डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो महराजगंज। नेपाल के सीमावर्ती जनपद महराजगंज में लम्बे समय से फल फुल रहें भैंस और पडवें का कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए सक्रियता का परिचय देते हुए निचलौल थानाध्यक्ष रामाज्ञा सिंह ने सुचना का संज्ञान लेते हुए तत्काल दरोगा हौसला प्रसाद को निर्देशित किया लेकिन दरोगा मौके पर नहीं पहुंचे उसी समय कहीं से निचलौल थाने के सीपाही जीतेन्द्र यादव कहीं से उसी रास्ते से जा रहे थे की रोक कर भैंस और

पडवें की तस्करी का बात बताने और एस ओ के संज्ञानता की बात कहने पर उच्चाधिकारियों से तत्काल बात कर सीपाही जीतेन्द्र यादव ने तस्करों को निचलौल रेंज के चमनगंज के पास जंगल में घेर कर एक तस्कर और ए अदद भैंस चार अदद भैंसा वह एक अदद पड़वा अकेले ही कब्जे में लेकर निचलौल थाने लाए और अग्रिम कार्रवाई में जुट गए।
बताते चलें अभी कुछ दिन पहले भी जब निचलौल थानाध्यक्ष के रूप में सुनील राव कार्यरत थे तब तस्करों द्वारा बड़ा खुलासा किया गया था और निचलौल थाने और ठूठीबारी थाने को लाईन देने की बात बताई गई थी निचलौल थाने और ठूठीबारी थाने का लाईन लेने वालों में लोहरौली निवासी वर्मा होमगार्ड गडौरा निवासी गुप्ता होमगार्ड तो जमुई कला निवासी मुजीम का नाम तस्करों द्वारा बताए गए और प्रत्येक मवेसी के हिसाब से लाईन देने की बात स्वीकार किया गया पत्रकारो द्वारा जब उक्त कथित लाइनर वर्मा से बात किया गया तो उसने भी मोबाइल पर निचलौल और ठूठीबारी थाने का लाईन लेने की बात स्वीकार किया।
अब ऐसे में जनपद में बरसों से पांव जमाएं भैंस और भैंसों का यह कारोबार नवागत थानाध्यक्ष रामाज्ञा सिंह के लिए एक चुनौती से कम नहीं है लेकिन सुचना के बाद तत्काल एक्सन में आएं रामाज्ञा सिंह और जितेंद्र यादव के के निर्भीक होकर जंगल में अकेले ही तस्करों के कब्जे से बरामदगी कर एक तस्कर को पकड़ कर थाने लाने से तस्करों में खलबली मचा गया है और इस गोरखधंधे पर लगाम लगाने की उम्मीद जगी है। थाने पर तस्कर के खिलाफ उचित धारा में मुकदमा पंजीकृत कर अग्रिम कार्रवाई में पुलिस समाचार लिखे जाने तक जुट गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here