डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र खड्डा कुशीनगर । आज दिनांक 22 मई 2022 दिन रविवार पूर्व नगर पंचायत खड्डा के सब्जी मंडी में अनिरुद्ध गुप्ता पूर्व अध्यक्ष पद के प्रत्याशी नगर पंचायत खड्डा द्वारा 5 बिंदुओं का मांग पत्र जिलाधिकारी कुशीनगर से संबोधित उप जिलाधिकारी की अनुपस्थिति राजस्व कानूनगो खड्डा को सौपा गया। कार्यक्रम की शुरुआत में सबसे पहले अनिरुद्ध गुप्ता, राजेश तुलसयान, सुदामा सिंह पटेल, कृष्ण मोहन शर्मा,अनिल सिंह आदि मंचासीन वक्ताओं व आगंतुकों ने शिक्षा की अधिष्ठात्री देवी मां शारदे के चित्र पर पुष्पर्चान व दीप प्रज्वलित कर किया गया। तथा कार्यक्रम में उपस्थित वक्ताओं व वरिष्ट जनों को माल्यार्पण किया गया। ज्ञापन में पूर्व अध्यक्ष पद के प्रत्याशी अनिरुद्ध गुप्ता ने लिखा है कि दिनांक 22/04/2022 को पंजीकृत डाक से श्रीमान जिलाधिकारी महोदय जनपद कुशीनगर सहित मा ० मुख्यमंत्री महोदय , उत्तर प्रदेश सरकार तक उपर्युक्त ज्ञापन का मांग पत्र भेजा जा चुका है । लेकिन किसी भी अधिकारी द्वारा नगर पंचायत खड्डा के मूलभूत समस्याओं को नही ध्यान दिया और न ही विभागीय पत्राचार किया गया । इससे मजबूर होकर के हम सभी नगरवासी शान्तिपूर्ण तरिके से विशाल घरना / प्रर्दशन / ज्ञापन दिनांक 22/05/2022 दिन रविवार , स्थान- पुराना नगर पंचायत खड्डा कार्यालय ( सब्जी मंडी ) खड्डा – कुशीनगर में धरने का कार्यक्रम का आयोजन कर निम्न मांगें आप के समक्ष मांगा जा रहा है ।
यह मांग जनहित से सम्बंधित है और खड्डा नगर के सोलह हजार नागरिकों से सम्बंधित है । जिससे नगरवासियों का हित प्रभावित हो रहा है और उनके जीवन पर सीधा असर पड़ रहा है । जो न्यायोचित नहीं है ।


बिंदु नंबर 1. जनपद- कुशीनगर के अन्तर्गत नगर पंचायत खड्डा में सोलह हजार मतदाता निवास करते है । उत्तर प्रदेश शासन के द्वारा वर्ष 18 अगस्त 1981 को नगर पंचायत का सृजन उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा किया गया । जो लगभग 40 वर्ष हो गए । लेकिन भू – स्वामित्व प्रमाण पत्र ( मालिकाना हक ) खेसरा का नकल नगर पंचायत खड्डा के द्वारा अबतक निर्गत नहीं किया जा रहा है । जिससे नगर पंचायत खड्डा के नगरवासियों का मकान / दुकान / खाली जमीन का मूल्यांकन नही हो पा रहा है । जिससे नगर में बड़े पैमान पर सम्पति निर्धारण को लेकर आयेदिन नागरिकों में बाद – विवाद हो रहा है । तथा बैंक द्वारा गृह ऋण यानी हाउस लोन नही दें रहा है । तो वही नगर पंचायत के द्वारा मकान का नक्शा भी पास नहीं किया जा रहा है , राजस्व अभिलेख मांगा जाता है । जबकी अधिकतर नागरिकगण कई पुस्तों से नगर में निवास ( घर ) बनाकर निवास करते है । लेकिन किसी के पास भू – अभिलेख नही होने के कारण भवन मानचित्र से वंचित नगर पंचायत के द्वारा कर दिए जाते है । राजस्व विभाग / अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत खड्डा वार्ड नं0-01 से लेकर वार्ड नं0-12 तक के निवासी नगरवासी गणों का सर्वे कराकर उन्हें भू – स्वामित्व ( मालिकाना हक ) खेसरा का नकल दिया जाये । जैसा की नगर पालिक परिषद पडरौना ( कुशीनगर ) के अधिशासी अधिकारी के द्वारा 10 रूपये के राजस्व स्टैम्प पर अपने नगर वासियों को खेसरा दिया जा रहा है । बगल के जनपद- महराजगंज के नगर पंचायत सिसवा बाजार के द्वारा जनरल प्लान 1962 के इन्डेक्स रजिस्टर के अनुसार अपने नगरीय बंधुओं को अधिशासी अधिकारी के द्वारा भू – स्वामित्व प्रमाण पत्र दिया जा रहा है । तो ऐसे में नगर पंचायत खड्डा के नगरवासियों को भी तत्काल भू – स्वामित्व प्रमाण पत्र ( मालिकाना हक ) खेसरा निर्गत किया जायें ।

बिंदु नंबर 2. नगर पंचायत खड्डा कार्यालय द्वारा जो गृहकर हाउस टैक्स की रसीद दी जा रही है । उसमे मकान नंबर , क्षेत्रफल , प्लाट नंबर को भी दर्ज किया जाये व बढ़े हुए घर – परिवार को भी गृह कर अभिलेख में दर्ज किया जाये । क्योंकि नगर में सोलह हजार मतदाताओं की अपेक्षा सिर्फ 2145 ही घर – परिवार को चिन्हित कर अभिलेख में दर्ज किया गया है । आबादी के हिसाब से बढ़े घर – परिवार का सर्वे कराकर गृहकर अभिलेख में नाम दर्ज किया जाये । बिंदु नंबर 3. नगर पंचायत खड्डा द्वारा बनाये गए परिवार रजिस्टर का नकल जो पूर्व में जारी किय जाता था उसे

तत्काल प्रभाव से जारी किया जाये । जिससे नगरवासियों को हो रहे दिक्कत – परेशानियों से राहत मिल सके । क्योकि उक्त परिवार रजिस्टर नगरिय नागरिक गणों का मूल अभिलेख है जिसे बिना कारण बतायें हुए बिना पूर्ण सूचना दिए हुए रोका गया है । जो जनहित में न्यायोचि नही है । जिससे नगरवासी परेशान है ।
बिंदु नंबर 4. नगर पंचायत खड्डा के वार्ड नं0-01 से वार्ड नं0-12 तक के जितने भी परिवार दूषित पानी पी रहे हैं उन्हे शुद्ध पेय जल मुहैया कराया जाये तथा नगर पंचायत खड्डा में खड़े दो पानी की टंकीयों से नहीं हो रहे पानी की सप्लाई की कारण का जांच करते हुए टंकी से पानी की सप्लाई बहाल किया जाय । नगर पंचायत खड्डा के द्वारा सरकारी धन से बनाये गए पानी प्याउ में हुए भ्रष्टाचार की जांच करते हुए उन्हें पुनः चालू किया जाये ।
क्योकि नगर पंचायत खड्डा के निवासी गण शुद्ध पानी पीने को तरस रहें हैं तथा आर.ओ का पानी खरीदकर पी रहें है । जो जनहित व न्यायोचित नही है । तहसील खड्डा के पास बने सरकारी धन से वाटर एटीएम जो इस भीषड़ गर्मी में बन्द है । जिसका पानी तहसील प्रशासन के अधिकारी , कर्मचारी , अधिवक्ता सहित आम नागरीक गण उक्त पानी को पीकर अपनी प्यास बुझाते थे । इस समय उक्त सभी नगरीक गण दूषित पानी पीने को मजबूर है । बिंदु नंबर 5. नगर पंचायत खड्डा द्वारा पूर्व नगर पंचायत खड्डा कार्यालय को ध्वस्त कराकर नगर सापिंग काम्पलेक्स बनाया गया है । जो सरल प्रक्रिया अपनाते हुए भ्रष्टाचार मुक्त तथा लाट्री सिस्टम से एलाटमेन्ट कराया जाये । जो फार्म एक हजार रूपये में नगर पंचायत खड्डा द्वारा बेचा जा रहा है । उस रकम को कम करके दिया जाये ।

अंत में अनिरुद्ध गुप्ता ने कहा कि उक्त बिन्दु संख्या एक से लेकर पांच तक की मांगे एक माह के अन्दर जिला स्तरीय टीम बनाकर जनहित तथा न्यायोचित समस्या को देखते हुए पूर्ण कराने की कृपा करें । अन्यथा तहसील खड्डा पर पुनः धरना प्रदर्शन होगा , जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी । इस कार्यक्रम में मंच के माध्यम से सुदामा सिंह पटेल, इंद्रासन राजभर, अनिल सिंह, राजेश तुलस्यान, रमाशंकर उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक, बैजनाथ मिश्रा, बृजबिहारी राय, कमलेश कुमार गुप्ता , गौतम गुप्ता, कृष्ण मोहन शर्मा, माधुरी (मधु), रज्जाक अंसारी, आदि ने उक्त बिंदुओं पर नगरवासियों को संबोधित किया तथा मंच का संचालन नागेंद्र पांडे ने किया।, इस दौरान अजित सिंह सभासद, आनंद मणि त्रिपाठी, द्वारिका रौनियार, नरेंद्र कुमार सिंह, समीम अंसारी, सुभाष चंद्र चौधरी, प्रेम प्रकाश यादव, अनिल गिरी सहित सैकड़ों की संख्या में खड्डा नगर वासी उपस्थित रहे। ज्ञापन ग्रहण करते समय राजस्व कानूनगो ने कहा कि जो मांगे हमारे स्तर से होगा उन मांगों का निस्तारण हम करेंगे बाकी के मामलों को शासन तक पहुंचाया जाएगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here