डाक टाइम्स न्यूज समाचार ब्यूरो कुशीनगर । लक्ष्मीगंज बंद चीनी मिल को चलवाने के लिये पिछले पांच वर्षों से जारी अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन तीसरे चरण के 28वें दिन भी जारी।

      भारतीय किसान यूनियन (अ) के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह के नेतृत्व में जनपद कुशीनगर की लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलवाने तथा कप्तानगंज चीनी मिल पर किसानों के गन्ने का भुगतान, जो कई करोड़ रूपये बकाया है, उसका सम्पूर्ण भुगतान अबिलम्ब कराने के लिये किसानों द्वारा अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन के तीसरे चरण का आज 28वां दिन है।
  
आज धरना-प्रदर्शन स्थल पर यूनियन के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह ने बताया कि, जनपद कुशीनगर की लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलवाने के लिये अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन इस क्षेत्र के किसानों, ब्यापारियों, बेरोजगारों और आम मतदाताओं के लिये हो रहा है। लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल चल जाने से इस क्षेत्र के विकास के साथ साथ यहाँ के किसानों, बेरोजगारों, ब्यापारियों के हित में मिल का पत्थर साबित होगा और कप्तानगंज चीनी मिल पर किसानो के कई करोड रूपये बकाया है उसे उनके खाते में तत्काल भेजवाया का भी प्रयास हमारे यूनियन द्वारा किया जा रहा है।
    
    आगे यूनियन के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह ने धरना स्थल पर बताया कि, यदि भाजपा की योगी सरकार लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलवाने की घोषणा कर देती है तो उनके शीर्ष पद पर विराजमान नेताओं ने इस क्षेत्र के किसानों के साथ जो वादा किया है वह भी पूरा हो जायेगा साथ ही साथ सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के कर कमलों द्वारा किसान हित में लिया गया फैसला उनके द्वारा किए गये विकास कार्यों में एक नया अध्याय जोड़ने का भी कार्य करेगा।
  
       अन्त में जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी हमारे दोनों माँगों के ऊपर गम्भीरतापूर्वक विचार करते हुए 30 मई 2022 तक त्वरित कार्यवाही करके किसानों द्वारा हो रहे इस धरना प्रदर्शन पर पूर्णत: पूर्ण विराम लगाया जाय जो किसान और सरकार दोनों के हित में होगा अन्यथा आन्दोलन और तेज होगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here