डाक टाइम्स न्यूज समाचार ब्यूरो कुशीनगर ।

सामूहिक विवाह कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न

कुल 159 युगल जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

वर वधु को प्रमाण पत्र व उपहार भी वितरित किए गए

शादी हमारी संस्कृति का अंग है- डीएम

शासन द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को लेना चाहिए- डीएम

वैवाहिक जीवन की शुरुआत खुशहाली, सहयोग, साथ देकर, आदर और प्रेम भाव के साथ करें- मुख्य विकास अधिकारी

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना अंतर्गत सामूहिक विवाह का वृहद कार्यक्रम बुद्धा पार्क रविंद्र नगर धूस में आयोजित हुआ। सामूहिक विवाह समारोह में जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रदीप जायसवाल व अन्य जनप्रतिनिधिगणों की उपस्थिति रही, जिन्होंने उपस्थित युगल जोड़ो को अपने आशीर्वचन और शुभकामनाएं दी।
वैदिक मंत्रोच्चारण व बैंड बाजे के साथ शादी समारोह की शुरुआत हुई। वर वधु ने एक दूसरे को वरमाला पहना कर शादी की रस्म अदायगी की।


उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने उपस्थित वर-वधू को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि शादी हमारी संस्कृति का एक अंग है। गरीब लोगों के लिए शासन द्वारा कई सारी कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है, जिससे उन्हें आर्थिक सहयोग भी मिलेगा जो नए जीवन की शुरुआत के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह समारोह के माध्यम से कन्याओं के खाते में जो पैसे जा रहे हैं वह उन्हें नई दिशा की ओर आगे बढ़ाने में मदद करेगा। इससे नया व्यवसाय शुरू किया जा सकता है। साथ ही जो व्यवसाय पहले से चला आ रहा है उसे और बेहतर भी किया जा सकता है। उन्होनें कहा कि शासन की कल्याणकारी योजनाओं से पात्र लोगों को लाभ लेना चाहिए। इन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेकर जीवन स्तर को आगे बढ़ाया जा सकता है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक ने उपस्थित युगल जोड़ी को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि आपके वैवाहिक जीवन की शुरुआत खुशहाली, सहयोग, एक दूसरे का साथ देकर, आदर और प्रेम भाव के साथ होना चाहिए। इस क्रम में उन्होंने बताया कि सामूहिक विवाह कार्यक्रम के माध्यम से विवाहित कन्या के खाते में ₹ 35000, उपहार व सम्मान हेतु ₹10000 व शादी के आयोजन की राशि के रूप में ₹ 6000 प्रदान की जाती है। उपस्थित पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष और जनप्रतिनिधि प्रदीप जायसवाल ने युगल जोड़ों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि पहले जिनके पास पैसे का अभाव होता था वे खेती गिरवी रखकर, गहने गिरवी रखकर शादी का आयोजन किया करते थे। उनके लिए सरकार की यह योजना काफी लाभदायक है। उन्होंने युगल को घर परिवार को चलाने की शुभकामनाएं और आशीर्वाद दिया। इस अवसर पर कुछ वर वधु को प्रमाण पत्र व उपहार भी वितरित किए गए। आज कुल 159 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे जिसमे 131 हिंदू युगल तथा 28 मुस्लिम युगल शामिल थे। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी/ परियोजना निदेशक राजनाथ भगत, समाज कल्याण अधिकारी विपिन पांडे, डीसी मनरेगा राकेश सिंह व जनपद स्तरीय अन्य अधिकारी गणों की भी उपस्थिति रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here