डाक टाइम्स न्यूज समाचार ब्यूरो कुशीनगर । भ्रष्टाचार जीरो टॉलरेंस सरकार के निति पर हर रोज तमाचा जड़ते हुए नित नए आयाम स्थापित कर रहा है और सरकारी तंत्र कमिशन के मंत्र पर मौन व्रत धारण कर आय से अधिक सम्पत्ति का मालिक प्रत्यक्ष/परोक्षरूप से बन समाजिक हैसियत में अपना रूतबा स्थापित कर रहे हैं। भ्रष्टाचार का नया किर्तिमान उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले के निचलौल तहसील के प्रमुख मार्ग निचलौल से सिसवा पर निर्माणाधीन पुलिया अमहवां आमूतलाव में भ्रष्टाचार का है जहां भ्रष्टाचार को संमवंधित कार्यदाई संस्था आंखें मूंद मौन स्वीकृति प्रदान कर अंजाम देने में

सहयोग प्रदान कर रही है। उक्त निर्माणाधीन पुलिया पर नहीं कार्यदाई संस्था का बोर्ड लगा है और ना ही लागत , निर्माण सामग्री आदि से संबंधित कोई सुचना पट्ट लगा है जिससे आम जनमानस को कोई जानकारी प्राप्त हो सकें जबकि शासनादेश के अनुसार निर्माण कार्य प्रारंभ करने से पहले स्टिमेट बोर्ड का लगना आवश्यक है। कार्यदाई संस्था/ ठेकेदार द्वारा निर्माण कार्य निम्न स्तर से संपादित कराया जा रहा है इसका जिता जागता उदाहरण डाक टाइम्स न्यूज/समाचार पत्र के कैमरे में कैद हुए ठेकेदार द्वारा रात के अंधेरे में पुल के फाउंडेशन का निर्माण आनन फानन में सड़क में प्रयोग होने वाले पत्थर 25-50 के साइज़ प्रयोग किया गया है‌। जबकि फाउंडेशन निर्माण में ऐसे पत्थरों का प्रयोग निषेध हैं। ठेकेदार द्वारा विना फाउंडेशन पकाएं ही पुलिया का तीन पाया दोयम दर्जे का ईंट का प्रयोग किया गया है जबकि जिम्मेदार जेईई और सरकारी तंत्र कमिशन के मंत्र पर मौन व्रत धारण किए हुए हैं।

47 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here