डाक टाईम्स न्यूज समाचार पत्र ब्यूरो महराजगंज। उत्तर प्रदेश का जनपद महराजगंज वन सम्पदा के अकूत दौलत से आच्छादित जनपद है जनपद महराजगंज की बेशकिमती लकड़ी जनपद में वन विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों के आकर्षण का केंद्र रहतीं हैं जिसकी आड़ में वन विभाग अपने पद और पावर का दुरपयोग करती है और जनपद में कार्यरत

अधिकारियों/कर्मचारियों का चांदी ही चांदी रहता है। ताज़ा मामला सी वन लाट के नाम पर वन विभाग द्वारा खरीदारों को परेशान कर धन उगाही का है जो आए दिन वन विभाग द्वारा ठेकेदार/क्रेता को परेशान करने के लिए सीवन लाट संख्या 73,74,75,78 वर्ष 2021-22 कुल 164 नग, सांखू और सागौन, 64 नग चिरान सांखू/सागौन का नियमानुसार लोडिंग करा कर निकासी दिया गया कुछ दुर उक्त ट्रक के जाने के बाद पुनः वन विभाग द्वारा उक्त ट्रक को जांच के नाम पर रेंज कार्यालय निचलौल लाया गया रात भर बाद आज दिनांक 14-07-2021 को मय जिम्मेदारो के समक्ष उक्त लकड़ी की जांच की गई। नवागत एस डी ओ से जब पत्रकारों ने उक्त प्रकरण पर सवाल दागा तो वे ज़बाब देने में अस्मर्था जताई तो वहीं रेंज निचलौल ने कहा कि उक्त ट्रक में किसी भी प्रकार की अवैध लकड़ी नहीं मिला। ऐसे में अपने ही जिम्मेदारो की उपस्थिति में लोड हुए उक्त संमवंधित ट्रक को 24 घंटे से अधिक अपनी अभिरक्षा में रख कर जांच रूपी कार्यवाही कर और पुनः जांच में उक्त ट्रक पर सही लकड़ी होने का दावा करना धन उगाही का कुचक्र तो नहीं ऐसे में वन विभाग महराजगंज अपने कारनामों के लिए सुर्खियों में बना रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here