डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो महराजगंज ।
नेपाल राष्ट्र का सीमावर्ती जनपद महराजगंज में तस्करों और जिम्मेदार एजेंसीयो की चांदी ही चांदी है दोनों देशों भारत और नेपाल के बेरोजगार युवाओं के भविष्य पर कुठाराघात करते हुए सीमावर्ती क्षेत्र के पगदंडीयो ,नाकाओ , नदी, नालों आदि से तस्करी का गोरख धंधा प्रशासनिक एजेंसीयो के नाक के नीचे फल फुल रहा है।
जनपद महराजगंज में चीनी, यूरिया, कपड़ा आदि की तस्करी आम बात हो गई है सरहदी क्षेत्रो के कस्बों में चीनी और यूरिया के थोक व्यापारी अधिक से अधिक मात्रा में चीनी और यूरिया खाद मंगाकर विना स्टाक रजिस्टर में सही विक्रय किए गोल मोल कर तस्करों के हाथ बेच रहे हैं और जिम्मेदार कभी भी इनके स्टाकिस्टों का स्टाक का मिलान कराने की जहमत नहीं उठा रही है।
तस्करों द्वारा नित नए नए तरीके अपना कर तस्करी को अंजाम दिया जा रहा है।
डाक टाइम्स समाचार के कैमरे में कैद ट्रेन से खाद तस्करी का नायाब तरीका तस्करी के बृहद आयाम को प्रदर्शित कर रहा है।


सिसवा बाजार में प्लेटफार्म प्लेटफार्म नंबर एक से गाड़ी नंबर 05450 गोरखपुर-नरकटियागंज को जाने वाली से तस्करों द्वारा यूरिया खाद की तस्वीर जोरों पर है सूत्रों की मानें तो तस्करों से पुलिस विभाग मोटा पैसा वसूली करने का गोरखधंधा चला रही हैं और सिसवां रेलवे स्टेशन पर यह धंधा फल-फूल रहा है।

14 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here