डाक टाइम्स न्यूज खड्डा/कुशीनगर- जनपद कुशीनगर के तहसील क्षेत्र खड्डा अन्तर्गत बिकास खण्ड नेबुआ-नौरंगिया के ग्राम सभा रायपुर भैंसही मेंअशोक सिंह (ग्राम प्रधान) के दरवाजे पर संगठन के विस्तार हेतु अनिरुद्ध सिंह (खड्डा तहसील प्रभारी) के नेतृत्व में सम्पन्न की गयी इस बैठक की अध्यक्षता अशोक सिंह के द्वारा की गई।
तथा संचालन अनिरुद्ध सिंह के द्वारा किया गया। उक्त बैठक में अनिरुद्ध सिंह का अहम भूमिका रहा इस बैठक में प्रमुख रूप से विश्वजीत सिंह ने सक्रिय भूमिका निभाईक्षअनिरुद्ध सिंह ने मोर्चा के विभिन्न सामाजिक कार्य रक्तदान, विवाह, स्वरोजगार, जॉब के बारे में विस्तार पूर्वक लोगों को बताया तथा समझाया। साथ ही साथ नाम के साथ मे सैंथवार उपनाम लिखने पर बल दिया। मोर्चा के विस्तार हेतु साप्ताहिक बैठकों को जारी रखने का सुझाव दिया गिरिजानन्द (ग्राम प्रधान भूमिहारी पट्टी)ने सजातीय बंधुओ को संबोधित करते हुए कहा कि अन्य राज्यों में मूलनाम से आरक्षण मिल रहा है जैसे बिहार राज्य एवं उत्तराखंड सरकार हमारे समाज सैंथवार मल्ल को मूल नाम से आरक्षण दे रही है। ठीक उसी प्रकार से उत्तर प्रदेश में भी मूलनाम से आरक्षण एवं जाति प्रमाण पत्र में जारी होना चाहिए इसके लिए सभी सजातीय बंधुओं को एक होकर मूलनाम से आरक्षण के लिए आवाज उठाने होंगें। विधानसभा चुनाव में अनेकानेक विधायकों ने हमारे मूल नाम से आरक्षण के मुद्दे को राज्य सरकार तक पहुचाने नके वादे किए थे जो कि चुनाव पश्चात चुप्पी साधे हुए हैं। यदि सजातीय बंधुओ आप भी चुप्पी साधे बैठें तो आने वाले पीढियां हमें माफ नहीं करेगी।
अनिल सिंह जी (पूर्व ग्राम प्रधान बदल छपरा)ने सजातीय बंधुओं को सबोधित करते हुए कहाँ कि आज की परिस्थितियों में सैंथवार मल्ल समाज को संगठित होने की आवश्यकता है। यदि हम संगठित होकर संगठन के साथ कदम से कदम साथ दिया तो अपने उद्देश्यों में हम सफल होंगे पप्पू सिंह (रायपुर भैसही) ने समाज की एकता पर जोर डालते हुए कहा कि सभी सैंथवार मल्ल समाज को आपसी मनमुटाव त्याग कर एक उचित प्लेटफार्म पर राष्ट्रीय मोर्चा के बैनर तले खड़ा होने की आवश्यकता है नवल किशोर सिंह ने सजातीय बंधुओं को सम्बंधित करते हुए कहा कि आज के परिवेश में सैंथवार मल्ल समाज को आपसी भेदभाव मिटाकर एक होने की आवश्यकता है जिस प्रकार से दूध पानी को अपने में मिलाकर उसे अपने में समाहित कर लेता है और अपनी मात्रा अधिक होने का प्रमाण देता है ठीक उसी प्रकार से सैंथवार मल्ल समाज को भी एक होकर आरक्षण के लिए आवाज उठाने चाहिए अशोक सिंह (कोहर गड्डी) ने कहा की विखरे हुए समाज को मोतियों की तरह एक धागे में पिरोकर एकता स्थापित करने की आवश्यकता है। समाज जितना अधिक संगठित होगा उतना अधिक मजबूत भी होगा रविंद्र सिंह (खड्डा) ने कहाँ कि सैंथवार मल्ल समाज के लोग चाहे किसी भी पार्टी में हों परन्तु अपने सैंथवार मल्ल समाज के चौमुखी विकास हेतु अवश्य ही विचार करें। साथ ही साथ इन्होंने यह भी कहा कि हमारा सैंथवार मल्ल समाज अन्य समाज की अपेक्षाओं में आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षिक में बहुत बजबूत है बस कमजोर है तो राजनीतिक एवं एकता के मामले में जो कि सबका जिम्मेदारी बनता है कि समाज में एकता स्थापित किया जाय संतोष सिंह (सिरसिया) ने कहा कि जो सैंथवार मल्ल समाज में कुर्मिकरण करने पर तुले हैं ऎसे लोगों को चिन्हित कर समाज से बहिष्कृत किया जाना चाहिए उपेंद्र सिंह ने संगठन की महत्ता को बहुत ही अच्छी तरह से लोगों के सामने प्रस्तुत किया तथा संगठित रहने के महत्व को समझाया और इन्होंने कहा कि समाज के लोगों के अंदर जागरूकता लाने के लिए मोर्चा से जोड़ा जाना अति आवश्यक है विश्वजीत सिंह ने कहा कि सैंथवार मल्ल समाज को मजबूत होने के लिए शत प्रतिशत शिक्षित होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि मोर्चा के द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के छात्रों को शिक्षा के लिए हर सम्भव मदद किया जा रहा है और भविष्य में भी किया जाता रहेगा इस बैठक में अनिरुद्ध सिंह, अशोक सिंह, नवल किशोर सिंह, पप्पू सिंह, गजेंद्र सिंह, रनवीर प्रताप सिंह, रघुनाथ सिंह, राजेश सिंह, नरेंद्र सिंह, दुबई सिंह, रमाशंकर सिंह, सुखारी सिंह, रविन्द्र सिंह(खड्डा), वीरेंद्र सिंह, छगरु सिंह, सत्यनारायण सिंह, केदार सिंह, छोटेलाल सिंह, दीपेंद्र सिंह, महेंद्र सिंह, राम अवध सिंह, वीरझन सिंह, शिवेंद्र सिंह, इंद्रजीत सिंह, विनोद सिंह, अनिल कुमार सिंह (बदल छपरा) संतोष कुमार सिंह (सिरसिया), गिरिजनन्द सिंह (भूमिहारी पट्टी), विश्वजीत सिंह (कप्तान गंज), अशोक नाथ सिंह, पृथ्वीनाथ सिंह इत्यादि सैकड़ों सजातिय बंधुओं ने भाग लिया तथा राष्ट्रीय मोर्चा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता तन-मन-धन से सहयोग देने का वचन दिया।

                               विज्ञापन                           

 

9 COMMENTS

  1. Growing up, I have always seen the very familiar commercials presenting a happy older couple doing romantic activities as an ad for Cialis amazon priligy Head to head clinical studies have generally demonstrated that no particular erectile dysfunction medication is superior to the others

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here