डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो महराजगंज ।
वैसे तो आईं0 जी0 आर0 एस0 पर फर्जी आख्या कोई नई बात नहीं है तमाम शिकायतों में सम्बंधित अधिकारीयों द्वारा अपने बचाव में गलत आख्या प्रस्तुत कर आई 0 जी 0आर0 एस0 पर गलत आख्या प्रस्तुत कर दिया जाता है। बमुश्किल कुछ मामलों में ऐसे गलत आख्या प्रस्तुत करने वाले अधिकारियों के खिलाफ जांच कमेटी गठित कर जांच कराई जाती है और कार्यवाही हो पाती है यह अफसरशाही में व्याप्त भ्रष्टाचार का जीता जागता उदाहरण मात्र है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के जनपद महाराजगंज में स्थित सोहगी बरवा वन्य जीव प्रभाग महाराजगंज के डीएफओ पुष्प कुमार के, का है जिन्होंने राघवेंद्र कुमार त्रिपाठी के द्वारा

मांगी गई लगभग 3 महीने पूर्व जनसूचना को अब तक उपलब्ध नहीं कराया है जिसकी शिकायत राघवेंद्र तिवारी द्वारा आई ०जी ०आर ०एस० के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री जी से की हुई थी जिसके क्रम में दिनांक 20 अगस्त 2022 को डीएफओ पुष्प कुमार के द्वारा फर्जी आख्या प्रस्तुत किया गया है अपनी आंख्या में डीएफओ पुष्प कुमार के ने 8 जुलाई 2022 को एक पत्र पत्रांक 126 /30-1 दिनांक: महाराजगंज द्वारा आवेदक राघवेंद्र तिवारी को जन सूचना के संदर्भ में कार्यालय दिवस में कार्यालय पर पहुंचकर जनसूचना देख लेने की बात कही गई है जबकि अब तक इस पत्रांक

की कोई चिट्ठी राघवेंद्र तिवारी को अब तक नहीं मिली हुई है। उक्त पत्र मात्र आइजीआरएस पोर्टल पर लोड की गई है चिट्ठी आइजीआरएस पोर्टल के माध्यम से राघवेंद्र तिवारी को प्राप्त हुई है यह फर्जी एवं भ्रामक पत्र कूट रचित दस्तावेज है क्योंकि डीएफओ उक्त दिनांक 8 जुलाई 2022 को मेडिकल छुट्टी पर अपने घर चले गए थे और वन प्रभाग महराजगंज के डीएफओ का तत्कालीन चार्ज संतकबीरनगर के डी एफ ओ, टी रंगा राजू के पास था ऐसी दशा में डीएफओ पुष्प कुमार के, हस्ताक्षर से जारी किया गया उक्त पत्र के फर्जी होने का और आईजीआरएस पर दिए गए आख्या के फर्जी होने का प्रमाण है इससे क्षुब्ध होकर आवेदक राघवेंद्र तिवारी ने जिलाधिकारी महाराजगंज वन सचिव उत्तर प्रदेश शासन पीसीसीएफ ममता दुबे को पत्र भेजकर गुमराह करने वाले इस आख्या देने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का अनुरोध किया है।

विदित हो कि महराजगंज वन प्रभाग के डीएफओ पुष्प कुमार के, का 15 मई 2022 को निचलौल महाराजगंज मार्ग पर भीषण एक्सीडेंट हुआ था जिसमें डीएफओ पुष्प कुमार के गंभीर रूप से घायल हो गए थे के कारण डीएफओ पुष्प कुमार के 15 मई से 24 जुलाई 2022 तक मेडिकल अवकाश पर रहे इस दौरान वन प्रभाग महाराजगंज का कार्यभार संत कबीर नगर के तत्कालीन d.f.o. टी रंगा राजू प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी संत कबीर नगर के पास रही ऐसी दशा में जो डीएफओ पुष्प कुमार के द्वारा दिनांक 8 जुलाई 2022 को अपने सिग्नेचर द्वारा जारी किया गया है एक कूट रचित दस्तावेज होने का प्रमाण है।

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here