डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो महराजगंज ।
आजकल मीडिया द्वारा लगातार शिक्षा विभाग के विविध भ्रष्टाचार, लापरवाही ,लचर शिक्षा व्यवस्था, बिना मान्यता प्राप्त किए संचालित हो रहे नियम विरुद्ध हाई स्कूल इंटर कालेज आदि भ्रष्टाचार को बेबाकी से खुलासा किया गया है। लगातार हो रहे खुलासे से घबराए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी महराजगंज ने अपने पत्र पत्रांक 4592-97/दिनांक 3 सितंबर 2022 में पत्रकारों/चौथे स्तंभ पर तुगलकी फरमान जारी करते हुए आदेशित किया है कि प्राथमिक विद्यालयों तथा जुनियर विद्यालयो पर तैनात ज़िम्मेदार, पत्रकारों को कोई भी अभिलेख का फ़ोटो न खिंचने दें। अभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में बच्चियों के पिटने का वीडियो वायरल हुआ था जिसमें बच्चियों ने भोजन के गुणवत्ता पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया था और सम्बंधित वार्ड ने समान न मिलने का हवाला देते हुए बीएसए और डीएम को चैलेंज किया था जिसमें कार्यवाही के नाम पर बेसिक शिक्षा अधिकारी महराजगंज ने लिपा पोती करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है तो वहीं जुनियर विद्यालयों और प्राथमिक विद्यालय में सरकार द्वारा गुणवत्ता पुर्ण शिक्षा का दावा का हवा निकालता हुआ एक और मामला बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर कर रहा है जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी महराजगंज का है। जो अगस्त माह 2022 बीतने और सितंबर शुरू होने के बाद भी बच्चों को महरूम रखा गया। मामला है बच्चों के पढ़ने वाले किताबों का डाक टाइम्स समाचार पत्र ने पुर्व माध्यमिक विद्यालय नगर पंचायत निचलौल (मिडिल) का दिनांक 01-09-2022 को जमीनी हकीकत जानने की कोशिश किया तो विद्यालय का जर्जर भवन अपनी बदहाली का दस्तान बया कर रहा था तो वहीं बच्चों ने अबतक सरकारी दावे और बेसिक शिक्षा अधिकारी महराजगंज के अकर्मण्यता का पोल खोल दी।

         पुर्व माध्यमिक विद्यालय निचलौल प्रथम में              अध्ययनरत बालिका से डाक टाइम्स समाचार                           पत्र की बातचीत.                        

जमीनी हकीकत के तहकिकात में जब डाक टाइम्स समाचार ने अध्यनरत बालिका से सरकार द्वारा दिए जाने वाले मुफ्त किताबों के मिलने का सवाल किया तो बिटिया ने साफ़ साफ़ कहा कि अबतक किताबें नहीं मिली है शिक्षण कार्य पुराने किताबों जो बच्चे आठ पास कर गए हैं उनसे किताबें मांग कर पठन पाठन कर रहे हैं पेयजल के दूषित पानी देने के कारण बच्चे टाउन एरिया के कार्यालय पर पानी पीने जाने को विवशता है बिटिया ने बताया कि शौचालय तो है लेकिन टुटा-फुटा, फाटक विहिन। खेल के मैदान पर टाउन एरिया ने अवैध टैक्सी स्टैंड बना रखा जिसके कारण बच्चे खेल नहीं पाते।

जमीनी हकीकत के इस पड़ताल में पुर्व माध्यमिक विद्यालय निचलौल प्रथम जर्जर भवन बदहाल शौचालय बाउंड्री वॉल विहिन होने के साथ साथ अतिक्रमण और विवादित खेल मैदान के कारण नौनिहालों के खेल प्रतिभाओं पर कुठाराघात करते शिक्षण संस्थाओं का पोल खोल रहा है।  

    पुर्व माध्यमिक विद्यालय निचलौल प्रथम के                 अव्यवस्थाओं का पोल खोलते वीडियो          

अव्यवस्थाओं और सरकारी दावों के बिच आशा की किरणें उक्त शिक्षण संस्थान में कार्यरत अध्यापकों के द्वारा दिए जा रहे शिक्षा की है जिन्होंने विषम परिस्थितियों में भी बच्चों को इस योग्य बनाया है कि वे कैमरे के सामने भी बेबाकी से सवालों का जबाव दे रही है और पुराने पुस्तकों से शिक्षण कार्य कर रही है।

        बीएसए महाराजगंज द्वारा जारी फरमान.       

चौथे स्तम्भ पर लगाम लगाने के उद्देश्य से जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी महराजगंज द्वारा जारी किए गए इस तुगलकी फरमान के पिछे जारी किए गए इस आदेश का उद्देश्य उसकी विफलता पुर्ण कार्य शैली और भ्रष्टाचार को उजागर होने से रोकने के उद्देश्य से दिया गया तुगलकी फरमान है। शायद उसे यह पता नहीं यह माओ का देश चीन नहीं स्वतंत्र भारत देश है और यहां की मिडिया स्वतंत्र और निष्पक्ष होकर भ्रष्टाचार पर कुठाराघात करतीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here