डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो कुशीनगर ।
भारतीय किसान यूनियन (अ) के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह ने जनपद कुशीनगर के दौरे पर आये सुरेश कुमार खन्ना प्रभारी मन्त्री, गोरखपुर मंडल से सम्बोधन ज्ञापन उपजिलाधिकारी, सदर पड़रौना को सौंपते हुए अवगत कराये है कि, जनपद कुशीनगर गन्ना बाहुल्य क्षेत्र है। सरकारी आकड़े के अनुसार जनपद के लक्ष्मीगंज क्षेत्र से हर वर्ष 40-50 लाख कुन्तल गन्ने की पैदावार होती है। लक्ष्मीगंज क्षेत्र का किसान अपने गन्ने को रामकोला, कप्तानगंज, हाटा तथा जनपद गोरखपुर के पिपराईच चीनी मिल पर ले जाने को मजबूर है जबकि, इस क्षेत्र का लक्ष्मीगंज चीनी मिल बन्द पड़ा है। किसानों को अपना गन्ना दूसरे मिलों पर ले जाने में काफी परेशानी होती है साथ ही साथ उनको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है। लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलाने के लिये पिछले पांच वर्षों से भारतीय किसान यूनियन (अ) के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह के नेतृत्व में किसान लगातार कई चरणों में धरना – प्रदर्शन करते चले आ रहे हैं। ज्ञापन के माध्यम से यूनियन के जिलाध्यक्ष रामचन्द्र सिंह किसान हित में प्रभारी मन्त्री से माँग किया है कि, जनपद कुशीनगर की लक्ष्मीगंज बन्द चीनी मिल को चलाने की दिन और तारीख तय करते हुए इसे पुन: चलाने के लिये कार्य प्रारम्भ किया जाय। जबकि, इस बन्द चीनी मिल को चलाने की घोषणा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा 01 मार्च 2022 को ही कर चुके है। जनपद कुशीनगर के कप्तानगंज चीनी मिल पर किसानों के गन्ने का भुगतान पेराई सत्र 2021-22 का कई करोड़ रुपये बकाया है उसे तत्काल किसानों के खाते में भेजवाया जाय। यदि उपरोक्त माँगों के ऊपर सरकार त्वरित कार्यवाही नही करती है तो किसान सड़क पर आने को मजबूर होगा जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। इस मौके पर वरिष्ठ समाजसेवी जय सिंह सैथवार, रामनरेश सिंह पटेल, सीताराम मौर्या, राम प्रवेश सिंह पटेल, मनीष सिंह, शुभकरण सिंह, अशोक सिंह, ईश्वर सिंह, आकाश पटेल, छेदी सिंह, विमलेश, अंगेश प्रताप सिंह के साथ साथ अन्य किसान मौजूद रहे।

                       विज्ञापन                         

14 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here