डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो कुशीनगर।
मंत्री वित्त एवं संसदीय कार्य विभाग उत्तर प्रदेश/ प्रभारी मंत्री गोरखपुर मंडल सुरेश कुमार खन्ना, राज्य मंत्री अल्पसंख्यक कल्याण मुस्लिम वक्फ एवं हज उ0प्र0 दानिश आजाद अंसारी व राज्यमंत्री जल शक्ति दिनेश खटिक मंत्री समूह का जनपद कुशीनगर के व्यस्त कार्यक्रम में आज सर्वप्रथम अम्बेदकर नगर मलिन बस्ती पडरौना का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के क्रम में मंत्री समूह मलिन बस्ती में निवास कर रहे लोगो से मिले व उनकी समस्याओं से रूबरू हुए। नाले की सफाई तथा नाले को ढकने की व्यवस्था हेतु उच्चाधिकारियों को

निर्देशित किया गया। इस क्रम में मलिन बस्ती में अवस्थित वाचनालय/ पुस्तकालय भी गए व पुस्तकालय प्रभारी डॉ चन्द्रिका प्रसाद से पुस्तकालय के रखरखाव, उपलब्ध पुस्तकें, सुविधाएं आदि के बारे में पूछा। मंत्री समूह के द्वारा प्राथमिक विद्यालय पडरौना व प्राथमिक विद्यालय धर्मपुर बुजुर्ग का भी निरीक्षण किया गया। मंत्री वित्त द्वारा बच्चों से कुछ सवाल पूछे गए यथा पेड़, फल, फूल

के नाम, पहाड़ा, हिंदी वर्णमाला, हिंदी कविताएं आदि कुछ बच्चों ने संतोषप्रद जबाब दिया जबकि कुछ बच्चे पूरा जबाब नहीं दे पाए। मंत्री द्वारा स्कूल प्राध्यापक को बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता में और सुधार किए जाने को निर्देशित किया। उन्होनें कहा विद्यालय में आधारभूत सुविधाओं पर ध्यान देने के साथ साथ गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा भी दी जानी चाहिये। छात्रों को घर जैसा माहौल दे, छात्रों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा हेतु अतिरिक्त प्रयासों की जरूरत है। अभिभावकों को भी बच्चों की शिक्षा के प्रति जागरूक व प्रोत्साहित किया जाए। जिला अस्पताल रविंद्रनगर धूस के निरीक्षण के क्रम में मंत्री समूह द्वारा महिला वार्ड, एस एन सी यू, प्रसव कक्ष, महिला शौचालय, अस्पताल में स्वच्छता आदि का निरीक्षण किया गया। उपस्थित मरीजों से

बात कर पूछा गया कि दवा अस्पताल से ही मिलती है या बाहर से लाना पड़ता है, किसी प्रकार की कोई समस्या तो नहीं है आदि। इसके बाद मंत्री समूह द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ जनपद के विकास कार्यो व कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की गई।
इस क्रम में स्वच्छ भारत मिशन, शौचालय निर्माण, पंचायत भवन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, 10 करोड़ से अधिक लागत की सड़क परियोजनाओं, राजकीय मेडिकल कॉलेज निर्माण, बाढ़ निर्माण कार्य, मनरेगा, अमृत सरोवर, कन्या सुमंगला, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री/प्रधानमंत्री आवास योजना, पी एम किसान सम्मान निधि, मुख्यमंत्री निराश्रित गोवंश योजना आदि कार्यों की समीक्षा की गई। अधिकारीगणों को निर्देशित करते हुए मा0 मंत्री जी ने कहा कि ससमय कार्य सम्पन्न किया जाना चाहिए, कार्य गुणवत्तापूर्ण होना चाहिये, लक्ष्यानुसार कार्य सम्पन्न किया जाए, गुणवत्ता के साथ कोई समझौता ना हो, बिना किसी युक्तियुक्त कारण के कोई कार्य लंबित ना हो, कार्य लम्बित रहने पर जिम्मेदारी तय की जाएगी। इसके बाद मा0 मंत्री जी ने प्रेस से वार्ता दौरान कहा कि भ्र्ष्टाचार पर सरकार की नीति जीरो टोलरेंस की है। पुलिस आई जी आर एस में जनपद की स्थिति काफी अच्छी होने पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होनें इसे जनपद के लिए उपलब्धि बताया। सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं यथा कन्या सुमंगला, मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना की चर्चा करते हुए उन्होनें इन

योजनाओं का लाभ उठाने की अपील भी की। पत्रकारों से वार्ता के क्रम में उन्होनें जनपदीय विकास कार्यो की प्रगति के संदर्भ में बताया। इस क्रम में मलिन बस्ती में अवस्थित वाचनालय/ पुस्तकालय भी गए व पुस्तकालय प्रभारी डॉ चन्द्रिका प्रसाद से पुस्तकालय के रखरखाव, उपलब्ध पुस्तकें, सुविधाएं आदि के बारे में पूछा। मंत्री समूह के द्वारा प्राथमिक विद्यालय पडरौना व प्राथमिक विद्यालय धर्मपुर बुजुर्ग का भी निरीक्षण किया गया। मा0 मंत्री वित्त द्वारा बच्चों से कुछ सवाल पूछे गए यथा पेड़, फल, फूल के नाम, पहाड़ा, हिंदी वर्णमाला, हिंदी कविताएं आदि कुछ बच्चों ने संतोषप्रद जबाब दिया जबकि कुछ बच्चे पूरा जबाब नहीं दे पाए। मंत्री जी ने स्कूल प्राध्यापक को बच्चों की शिक्षा की गुणवत्ता में और सुधार किए जाने को निर्देशित किया। उन्होनें कहा विद्यालय में आधारभूत सुविधाओं पर ध्यान देने के साथ साथ गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा भी दी जानी चाहिये। छात्रों को घर जैसा माहौल दे, छात्रों को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा हेतु अतिरिक्त प्रयासों की जरूरत है। अभिभावकों को भी बच्चों की शिक्षा के प्रति जागरूक व प्रोत्साहित किया जाए। जिला अस्पताल रविंद्रनगर धूस के निरीक्षण के क्रम में मंत्री समूह द्वारा महिला वार्ड, एस एन सी यू, प्रसव कक्ष, महिला शौचालय, अस्पताल में स्वच्छता आदि का निरीक्षण किया गया। उपस्थित मरीजों से बात कर पूछा गया कि दवा अस्पताल से ही मिलती है या बाहर से लाना पड़ता है, किसी प्रकार की कोई समस्या तो नहीं है आदि।

इसके बाद मंत्री समूह द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ जनपद के विकास कार्यो व कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की गई।
इस क्रम में स्वच्छ भारत मिशन, शौचालय निर्माण, पंचायत भवन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, 10 करोड़ से अधिक लागत की सड़क परियोजनाओं, राजकीय मेडिकल कॉलेज निर्माण, बाढ़ निर्माण कार्य, मनरेगा, अमृत सरोवर, कन्या सुमंगला, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मुख्यमंत्री/प्रधानमंत्री आवास योजना, पी एम किसान सम्मान निधि, मुख्यमंत्री निराश्रित गोवंश योजना आदि कार्यों की समीक्षा की गई। अधिकारीगणों को निर्देशित करते हुए मा0 मंत्री जी ने कहा कि ससमय कार्य सम्पन्न किया जाना चाहिए, कार्य गुणवत्तापूर्ण होना चाहिये, लक्ष्यानुसार कार्य सम्पन्न किया जाए, गुणवत्ता के साथ कोई समझौता ना हो, बिना किसी युक्तियुक्त कारण के कोई कार्य लंबित ना हो, कार्य लम्बित रहने पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।
इसके बाद मा0 मंत्री जी ने प्रेस से वार्ता दौरान कहा कि भ्र्ष्टाचार पर सरकार की नीति जीरो टोलरेंस की है। पुलिस आई जी आर एस में जनपद की स्थिति काफी अच्छी होने पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होनें इसे जनपद के लिए उपलब्धि बताया। सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं यथा कन्या सुमंगला, मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना की चर्चा करते हुए उन्होनें इन योजनाओं का लाभ उठाने की अपील भी की। पत्रकारों से वार्ता के क्रम में उन्होनें जनपदीय विकास कार्यो की प्रगति के संदर्भ में बताया। इस अवसर पर मा0 विधायक पडरौना मनीष जायसवाल, मा0 विधायक हाटा मोहन वर्मा, मा0 विधायक खड्डा विवेकानंद पांडेय, मा0 विधायक रामकोला विनय गौड़, मा0 विधायक फाजिलनगर सुरेंद्र कुशवाहा, मा0 विधायक कुशीनगर पी0 एन0 पाठक, पूर्व विधायकगण, जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, पुलिस अधीक्षक धवल जायसवाल, मुख्य विकास अधिकारी गुंजन द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी देवी दयाल वर्मा व समस्त जनपदस्तरीय अधिकारीगण व जनप्रतिनिधि गण मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here