डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र खड्डा/कुशीनगर-जनपद कुशीनगर के विकास खण्ड खड्डा के रेता क्षेत्र नदीं पार बसे गाँव सौर ऊर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने जा रहा है। अब पूरा ग्राम सभा में सूरज के ताप से रोशनी मिलेगा। प्रत्येक घरों को सौर ऊर्जा मिलेगा। इन गांवों को सोलर एनर्जी से आच्छादित कर विद्युत व्यवस्था की पुर्नस्थापना की जाएगी जिसके लिए शासन की ओर से 6 करोड़ 63 लाख रूपये की वित्तीय स्वीकृति मिल गई है। इसकी जानकारी स्वयं क्षेत्रीय विधायक विवेकानन्द पाण्डेय ने दी है। खड्डा विधायक विवेकानन्द पाण्डेय ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि नारायणी नदी पार बसे रेता क्षेत्र के लोगों को बिजली नहीं मिल पा रही थी। बाढ़ आने के कारण नदी के अत्यधिक प्रवाह के कारण बिजली के लगे पोल नदी में विलीन हो गए जिसके कारण शिवपुर बसन्तपुर, हरिहरपुर, नरायनपुर, बसंतपुर, मरचहवा आदि रेता क्षेत्र के गांवों के लोगों को बीते तीन वर्ष से बिजली नहीं मिल रही थी लेकिन अब इन गांवों को सोलर एनर्जी प्लांट के द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में बिजली मिलेगी जिसके लिए शासन की ओर से 6 करोड़ 63 लाख 35 हजार रूपए की वित्तीय स्वीकृति मिल गया है। उत्तर प्रदेश शासन के सचिव सुनील कुमार चौहान ने इस बावत 19 सितम्बर 2022 को बाकायदा पत्र जारी कर धन स्वीकृति की जानकारी दी है। कार्यदायी संस्था ऊर्जा विकास अभिकरण (यूपीडा) द्वारा शीघ्र ही टेण्डर की प्रक्रिया पूर्ण कर लिया जायेगा। बहुत जल्द नदी पार बसे रेला क्षेत्र के उक्त गांवों को सोलर एनर्जी प्लांट से आच्छादित कर बिजली की सुविधा दी जाएगी व गांवों में बिजली के स्थान पर सौर ऊर्जा से रोशन होगा। विधायक विवेकानन्द पाण्डेय ने इसके लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ, ऊर्जा मंत्री अरविंद शर्मा, नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना व सांसद विजय कुमार दूबे का विशेष आभार जताया है।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here