डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र कुशीनगर- दिनाँक 25 सितम्बर 2022 दिन रविवार को समय दिन के 11:00 बजे से राष्ट्रीय सैंथवार मल्ल स्वाभिमान मोर्चा के बैनर तले एक आवश्यक बैठक ग्रामसभा महुई में प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में, ब्लॉक मोतीचक, तहसील कप्तानगंज जिला कुशीनगर में संगठन के विस्तार हेतु अनिरुद्ध सिंह एवं नवलकिशोर सिंह के नेतृत्व में व विश्वजीत सिंह के देख रेख में बैठक रखी गयी थी। इस बैठक की अध्यक्षता मार्कण्डेय सिंह के द्वारा की गई बैठक में सर्वप्रथम सरस्वती वंदना की गई तत्पश्चात अगली कार्यवाही शुरू की गई। अनिरुद्ध सिंह ने ने मोर्चा के विभिन्न सामाजिक कार्य रक्तदान, विवाह, स्वरोजगार, जॉब के बारे में विस्तार पूर्वक लोगों को बताया तथा समझाया। साथ ही साथ नाम के साथ मे सैंथवार उपनाम लिखने पर बल दिया। न्होंने ने यह भी बताया कि आप सभी इतिहास उठा कर देख लीजिए कोई भी क्रान्ति को नौजवानों ने लेकर आये ठीक उसी प्रकार मोर्चा को जमीनी स्तर पर खड़ा करने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजीनियर मनोज सिंह सैंथवार एवं उनके अन्य साथियों ने मिलकर समाज को एक नई दिशा देने का काम किया।

q
डॉ० दयाशंकर सिंह ने सजातीय बंधुओं को सम्बंधित करते हुए कहा कि आज के परिवेश में विखरे हुए समाज को मोतियों की तरह एक धागे में पिरोकर एकता स्थापित करने की आवश्यकता है। यदि हम सभी अपने योजना में सफल हुए तो दुनिया की कोई ऐसी शक्ति नहीं जो हमें अपने उद्देश्यों तक पहुँचने से रोक सके। नवलकिशोर सिंह ने कहा कि सभी सैंथवार मल्ल समाज को आपसी मनमुटाव त्याग कर एक उचित प्लेटफार्म पर राष्ट्रीय मोर्चा के बैनर तले खड़ा होने की आवश्यकता है। हमारी एकता ही सही मायने में हमारे समाज के पहचान दिलाने में मदद करेगी। विश्वजीत सिंह ने संगठन की महत्ता को बहुत ही अच्छी तरह से लोगों के सामने प्रस्तुत किया तथा संगठित रहने के महत्व को समझाया। उन्होंने बताया कि शुरुवाती दिनों में मोर्चा के साथ बस हज़ार की सँख्या थी। परन्तु आज मोर्चा के मेहनत के परिणाम स्वरूप मोर्चा के साथ लाखों की संख्या हो चुकी है।विश्वजीत सिंह ने पड़रौना में आयोजित होने वाले कार्यक्रम विशाल सैंथवार मल्ल महापंचायत 28 अक्टूबर 2022 के कार्यक्रम में सैंथवार मल्ल समाज के सदस्यों को आमंत्रित किया।पूर्व ग्राम प्रधान अनिल सिंह ने कहा कि हमें अपने सैंथवार मल्ल समाज में घृणा एवं द्वेष को मिटाकर आपसी सहयोग तथा तालमेल बढ़ाने पर जोर देना चाहिए। प्रमोद सिंह (पूर्व ग्राम प्रधान बेलवनिया) ने कहा कि आज प्रत्येक समाज के लिए शिक्षा परीक्षा प्रधान बनी हुयी है। अपेक्षाकृत बच्चों के स्वास्थ्य, आचरण, कौशल का विकास, नैतिकता, परोपकार, राष्ट्रीय प्रेम जैसे उद्देश्यों का अभाव है। इसे परिवर्तित करने की आवश्यकता है। लल्लन सिंह ने कहा कि अपना सैंथवार मल्ल समाज अन्य समाज की अपेक्षा में किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है शिवाय एकता के। इस सैंथवार मल्ल समाज में एकता की प्रचुर मात्रा में कमी है। यदि सैंथवार मल्ल समाज एक बैनर तले खड़ा हो जाये तो कोई भी राजनीतिक पार्टियां हमारी बात सुनने के लिए तैयार हो सकती है। इस मीटिंग में अनिरुद्ध सिंह, नवलकिशोर सिंह, अभय प्रताप सिंह, शम्भु सिंह, दिलीप सिंह, महन्थ सिंह, राममोहन सिंह, सुरेश सिंह, गोविंद सिंह, शत्रुघ्न सिंह, लल्लन सिंह, रामेश्वर सिंह, नर्वदा सिंह, श्रीराम सिंह, जनार्दन सिंह, आद्द्या सिंह, ओम प्रकाश सिंह, चन्द्रिका सिंह, हरिकेश सिंह, लालमोहन सिंह, रामाज्ञा सिंह, उदयभान सिंह, वीरेंद्र सिंह, वीरेंद्र सिंह, रामबचन सिंह, राम विलास सिंह, जनमेजय सिंह, अनिल सिंह (महूई), राजेन्द्र सिंह, ब्रह्मदेव सिंह, लालजी सिंह, विश्वजीत सिंह, डॉ दयाशंकर सिंह, अनिल सिंह (पूर्व ग्राम प्रधान बादल छपरा), मार्कण्डेय सिंह (पूर्व ग्राम प्रधान महुई), श्रवण कुमार सिंह, राहुल सिंह, साधु सिंह, रामराज सिंह, महेश सिंह, अविनाश सिंह, मंजीत सिंह, प्रमोद सिंह ( बेलवनिया), इंद्रजीत सिंह, कुँवर अभय प्रताप सिंह, बांका सिंह (बादल छपरा), श्रीपत सिंह, केशरी सिंह, सोनू कुमार सिंह, उमेश कुमार सिंह, रामदरश सिंह, लल्लन मल्ल इत्यादि सैकड़ों सजातिय बंधुओं ने भाग लिया तथा राष्ट्रीय मोर्चा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता तन-मन-धन से सहयोग देने का वचन दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here