एक तरफ उत्तर प्रदेश सरकार का महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा के लिए “नारी सशक्तिकरण नारी सुरक्षा, नारी सम्मान अभियान” चलाया जा रहा और महिलाओं को स्वावलंबी सम्मान देने का दावा किया जा रहा है तो दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के हनुमानगंज थाना पुलिस द्वारा पीड़ित महिला के साथ किए इस अमानवीय दुर्व्यवहार से उत्तर प्रदेश सरकार का नारी सशक्तिकरण नारी सुरक्षा, नारी सम्मान का अभियान विफल नज़र आ रहा है।
कुशीनगर जिले के ग्रामसभा बोधी छपरा थाना हनुमानगंज निवासी रंजना यादव पत्नी दीपक यादव ने हनुमानगंज पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पति के मोबाइल पर दिनांक 29-10-2020 को हनुमानगंज महिला थानाध्यक्ष विभा पांडे बोधी छपरा निवासी दीपक यादव के मोबाइल पर रात 8:00 से 9:00 के बीच में फोन कर दीपक यादव से कहा कि अपनी पत्नी रंजना यादव को हनुमानगंज थाने पर लेकर आ जाना। थानाध्यक्ष विभा पांडे के आदेशानुसार उससे पति दीपक ने दिनांक 30-10-2020 अपनी पत्नी रंजना यादव को लेकर हनुमानगंज थाने पर स्वयं व अपने बच्चों के साथ पहुंची तो हनुमानगंज थाने के थानाध्यक्ष विभा पांडे ने उस पीड़ित महिला रंजना यादव को उसके पति के सामने ही एक जोरदार थप्पड़ मारा और मारते पीटते हुए कमरे में ले गई और बगल में रखे डंडे से उठाकर उस महिला के चेहरे, पीठ, पेट पर तथा पीछे के हिस्से पर महिला थानाध्यक्ष ने बेरहमी से मारने लगी जब पीड़िता ने पूछा कि मेरी क्या गलती है आप मुझे क्यों मार रही है तो इस पर विभा पांडे और आग बबूला होकर उस महिला को जमीन पर पटक दिया और लात जूता से मारने पीटने लगी जिससे महिला काफी घायल हो गई हनुमानगंज थानाध्यक्ष विभा पांडे की पिटाई से पीड़ित महिला के शरीर के कुछ अंगों से खून भी बहने लगा खून बहना देख थानाध्यक्ष महोदय का माथा ठनका थोड़ा रुकी लेकिन वह इतना आग बबूला हो चुकी थी और फिर उस महिला के मुंह पर मारते हुए बाहर ढकेल दिया। मारने पीटने के बाद भी महिला थानाध्यक्ष का दिल नहीं भरा तो उस पीड़ित महिला रंजना यादव पत्नी दीपक यादव को धमकी देते हुए कहा कि तुम्हें और तुम्हारे पति को फर्जी चालान कर दूंगी। पीड़ित महिला रंजना यादव दिनाँक 31-10-2020 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खड्डा तुर्कहाँ हॉस्पिटल पर गई और अपना मेडिकल कराया।
लेकिन फिर भी दबंग पुलिस महिला थानाध्यक्ष विभा पांडे अपनी हरकतों से बाज ना आते हुए पीड़ित महिला रंजना यादव को धमकी दे रही हैं कि जल्द ही तुम्हें किसी मुकदमे में चालान कर दूंगी।
प्रार्थिनी रंजना यादव पत्नी दीपक यादव का कहना है कि मेरे व मेरे परिवार में 3 बच्चे सहित काफी दहशत में है। हम थानाध्यक्ष हनुमानगंज विभा पांडे की आतंक से इस गांव को छोड़ने पर मजबूर है।
प्रार्थिनी रंजना यादव ने एसपी कुशीनगर से मिलकर पत्र सौंपा और इस प्रकरण की जांच कर उचित न्याय दिलाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here