डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र कुशीनगर-जनपद के सभी थानों, चौकियों व कार्यालयों में मंगलवार को पुलिस झंडा दिवस मनाया गया। जबकि 23 नवंबर 1952 को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं० जवाहर लाल नेहरू ने उत्तर प्रदेश पुलिस को पुलिस कलर व ध्वज प्रदान किए थे। ध्वज का आकार चार फीट लंबा व तीन फीट चौड़ा व ध्वज में दो रंग होता है। जिसमें ऊपर के तरफ लाल रंग व नीचे के तरफ नीला रंग होता है। इसी दिन पीएसी बल को भी ध्वज प्रदान किया गया। इसी लिए उत्तर प्रदेश पुलिस के इतिहास में 23 नवंबर का दिन विशेष महत्व रखता है। इसलिए उक्त तिथि को पुलिस झंडा दिवस के रूप में मनाया जाता है।पुलिस अधीक्षक कुशीनगर धवल जयसवाल ने क्वार्टर गार्द पर पुलिस ध्वज फहराया और सलामी दी। कहा कि ध्वज हमारे चरित्र को दर्शाता है और गौरवशाली इतिहास का भी प्रतीक है। ध्वज के

फहराने मात्र से एक नई ऊर्जा का संचार होता है। गर्व की बात है कि उप्र पुलिस पूरे भारतवर्ष का प्रथम राज्य पुलिस बल है जिसे पुलिस ध्वज प्रदान किया गया है। अंत में अधिकारियों व कर्मचारियों को पुलिस ध्वज का प्रतीक स्टीकर प्रदान किया गया। थानों व कार्यालयों पर आने वाले आगंतुकों को भी जलपान कराकर ससम्मान झंडे का प्रतीक चस्पा किया गया। 23 नवंबर 1952 को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं० जवाहर लाल नेहरू ने उत्तर प्रदेश पुलिस और पीएसी को फ्लैग(झंडा) प्रदान किया था तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू द्वारा उत्तर प्रदेश पुलिस को यह फ्लैग पुलिस और पीएसी के बलों द्वारा उनके शौर्य प्रदर्शन और कर्तव्यपरायणता पर दिए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here