आज दिनांक 20-11-2020 को कुशीनगर जिले के खड्डा नगर पंचायत के छठ घाट व खड्डा चीनी मिल के मानसरोवर पोखरे पर एवं क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न स्थानों पर सूर्य षष्ठी छठ पूजा डूबते हुए सूर्य देवता को अर्घ दिया गया आपको बता दें आज के दिन शाम के समय में डूबते हुए सूर्य देव को अर्घ्य दिया जाएगा और छठी मैया की विधि विधान से पूजा की जाएगी। छठ पूजा में संध्या अर्घ्य का विशेष महत्व है। इसके बिना व्रत पूरा नहीं किया जाता सकता है।

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को मनाया जाने वाले ” छठ व्रत ‘ पर्व पर साफ दृष्टिगोचर होता है । यह पर्व पूर्ण रुप से प्रकृति व पर्यावरण को समर्पित होता है । इस पर्व पर जन , जल , जमीन , जागृति , जलवायु तथा स्वच्छता का अनुपम संयोग देखने को मिलता है । क्षितिज पर मौजूद सूर्य सृष्टि और उर्जा शक्ति के स्रोत पूंज हैं । उनकी उर्जा को स्वयं में जागृत करने का यह महापर्व है । सूर्य की शक्तियों व उर्जा का उपयोग आदि काल से होता रहा है । सूर्य देव के प्रभाव से जीवन में हर्ष , उमंग , उल्लास तथा ऊर्जा का संचार होता हैयह आध्यात्मिक व वैज्ञानिक सत्यता है कि सूर्योपासना व सूर्य नमस्कार यौगिक क्रियाएं हैं जिसके करने से शारीरिक आरोग्य दायिनी शक्तियां सूर्य की ऊर्जा से ऊर्जावान होती हैं । इससे शरीर में सकारात्मक ऊर्जा के चलते नयी स्फूर्ति का संचार होता है । आज वैज्ञानिक युग में सूर्य की सौर ऊर्जा ( सोलर एनर्जी ) का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में हो रहा है । सूर्योपासना का यह अनुपम त्यौहार सौभाग्यवती महिलाओं द्वारा , पारिवारिक व आत्मिक उन्नति के लिए , श्रद्धा व विश्वास के साथ कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को मनाया जाता है । छठ पर्व के पूर्व ही घर परिवार के लोग मिलजुल कर जल स्रोतों व उनके घाटों व आस पास के क्षेत्रों की साफ सफाई कर पूरा वातावरण स्वच्छ बनाते हैं । घाटों पर कच्ची मिट्टी की वेदी बनाया जाता है । पर्व हेतु तामसी भोजन त्यागकर सात्विक ढंग से प्रकृ ति प्रदत्त भोज्य पदार्थों , फल , फूल , गन्ना , गेहूं चावल , चीनी व घी के प्रयोग से प्रसाद तैयार किया जाता है । बांस की बनी सुपेला और मिट्टी के दीयों ने जगमग रोशनी में पूजा सम्पन्न होती है । सौभाग्यवती महिलाओं द्वारा किया जाने वाला यह निर्जला व्रत प्रकृति के एकमात्र प्रत्यक्ष देव सूर्य व उनकी अर्धांगिनी उषा व प्रत्यूषा को समर्पित है । धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस व्रत से मनोवांछित फल , संतान सुख के साथ पारिवारिक सुख शान्ति की प्राप्ति होती है । रामायण और महाभारत के साथ ही साथ पौराणिक कथाओं में भी इसका वर्णन किया गया है ।

लोक आस्था के इस पर्व को शांतिपूर्वक ढंग से मनाने के लिए और शासन प्रशासन के दिए गए गाइडलाइन का पालन करते हुए सभी माताएं व छठ घाट पर उपस्थित सभी लोगों ने शासन प्रशासन के दिए गए नियमों का अनुपालन किया।

छठ घाट पर खड्डा एसडीएम अरविंद कुमार, स्थानीय विधायक जटाशंकर त्रिपाठी, नेबुआ नौरंगिया के ब्लॉक प्रमुख शशांक दुबे,

खड्डा नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि नासिर लारी, EO देवेश कुमार,  दुर्गेश्वर वर्मा  भाजपा नेता, खड्डा नगर पंचायत के शासन द्वारा मनोनीत सभासद प्रिंस मद्धेशिया, संतोष तिवारी, मधोक गुप्ता व सभी वार्ड सभासद विनोद यादव, महादेव चौधरी, पशुपति रौनियार, बुच्चन सिंह, सभासद प्रतिनिधि सिराज अहमद, अनिल गुप्ता, सभासद प्रतिनिधि कैलाश भारती, गजेंद्र यादव, शिव शंकर गुप्ता व खड्डा चीनी मिल के मानसरोवर छठ घाट पोखरे पर उपस्थित सभासद रोहित चौहान, भगवती शरण पांडे अपने क्षेत्र/वार्ड/विधानसभा की जनता, माताओं एवं बहनों के साथ छठ घाट का भ्रमण किया और किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसका जांच भी किया,

तो वहीं शांति व सुरक्षा बनाए रखने के लिए खड्डा पुलिस क्षेत्राधिकारी शिव स्वरूप, SO खड्डा रामकृष्ण यादव, एसआई पीके सिंह, एसआई अजीत पटेल, एसआई जीत बहादुर यादव, कांस्टेबल उमाशंकर, कांस्टेबल बाबूलाल व खड्डा पुलिस की पूरी टीम का भरपूर सहयोग रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here