डाक टाइम्स न्यूज समाचारपत्र ब्यूरो महराजगंज ।
जनपद महराजगंज वैसे तो सोहगीबरवां वन्य जीव प्रभाग महराजगंज के जंगलों से आच्छादित भूखंड है जहां वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत के तहत कड़े प्रावधान किया गया है। लेकिन यहा के कड़े प्रावधान अवैध रूप से संचालित हो रहे भट्टों के मामले में बौना साबित हो रहे हैं जनपद महराजगंज के निचलौल तहसील के मिठौरा ब्लाक के ग्राम सभा जगदौर और पंडरी कला में वर्षों से संचालित अवैध भट्टों को जिम्मेदारो द्वारा बंद/ध्वस्त कराने में असफल रहने के कारण अवैध भट्ठे निर्बाध रूप से संचालित हो रहे हैं। मजें की बात यह है कि ऐ भट्ठे जिम्मेदारों की जानकारी में संचालित हो रहे हैं।

समाजसेवी/पत्रकार मनोज कुमार तिवारी ने इन भट्ठों के संचाल के संदर्भ में आई0 जी0 आर0 एस0 के माध्यम से जब जिला पंचायत अधिकारी महराजगंज और खनन अधिकारी महराजगंज से जांच कर कार्रवाई की मांग किया गया तो इन अधिकारियों द्वारा सिर्फ आई0 जी0 आर0 एस0 पोर्टल पर भट्ठों के अवैध होने तथा विना लाईसेंस के संचालित होने की बात कही गई लेकिन कार्यवाही सुनिश्चित नहीं किया गया जिसके कारण ए अवैध भट्ठे निर्बाध रूप से संचालित हो रहे हैं।
समाजसेवी/पत्रकार मनोज कुमार तिवारी द्वारा उक्त आई0 जी0 आर0 एस0 संदर्भित पत्रों की आख्या की संज्ञान लेने का अनुरोध करते हुए जिलाधिकारी महाराजगंज और जिला पंचायत अधिकारी महराजगंज को इन अवैध रूप से संचालित हो रहे भट्टों पर कार्यवाही कर ध्वस्त करने की मांग किया गया है। उन्होंने अपने प्रार्थना पत्र में लिखा है कि ग्राम सभा जगदौर विकास खंड मिठौरा में संचालित हो रहे ओम् ईंट उद्योग विना लाईसेंस के ग्राम सभा जगदौर से 300 मीटर तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जादौर से एक किलोमीटर से कम दुरी पर संचालित हो रहा है उक्त बातें अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत महराजगंज की आख्या से स्पष्ट है( आई0 जी0 आर0 एस0 संदर्भ संख्या 4001872000604 की आख्या संलग्न है ) का और खनन अधिकारी महराजगंज के (आख्या संदर्भ संख्या 40018723000601 संलग्न है) अवलोकन करने का कष्ट करें। तो वहीं A P S ईंट उद्योग पंडरी कला विकास खंड मिठौरा भी अपर मुख्य अधिकारी महराजगंज की आख्या (आई० जी० आर०एस० संदर्भ संख्या 40018723001198 जो संलग्न है)दक्षिणी चौक रेंज के खोष्टा वीट से लगभग 3.5 किलोमीटर की दूरी पर विना लाईसेंस और मानकविहीन संचालित हो रहा है जो नियम विरुद्ध है। उक्त ईंट भट्टा ओम् ईंट उद्योग जगदौर तथा A P S ईंट उद्योग पंडरी कला विकास खंड मिठौरा जो विधि विरुद्ध है जैसा कि जिला पंचायत अधिकारी महराजगंज और खनन अधिकारी महराजगंज की आख्या से स्पष्ट है को ध्वस्त करने की कार्यवाही सुनिश्चित करने की कृपा करें। लेकिन जिम्मेदार मौन व्रत धारण कर अबतक उक्त प्रकरण में कार्यवाही करने से कतरा रहे हैं और भट्टा स्वामियों के संरक्षक बने हुए हैं।

3 COMMENTS

  1. I’ve learned several important things through your post. I might also like to convey that there will be a situation where you will have a loan and never need a cosigner such as a National Student Support Loan. But if you are getting a borrowing arrangement through a traditional banker then you need to be ready to have a cosigner ready to make it easier for you. The lenders will certainly base their decision on a few components but the most significant will be your credit rating. There are some lenders that will furthermore look at your job history and come to a decision based on that but in most cases it will hinge on your ranking.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here