ग्राम पंचायत फरेनिया विकासखंड खलीलाबाद जनपद संत कबीर नगर ओटीएस गांव होने के बावजूद अभी तक बहुत से पात्रों को शौचालय नहीं दिया गया जिन लोगों को शौचालय दिया गया है उसमें काफी धन का बंदरबांट किया गया है लगभग 1 साल पहले बने हुए शौचालय टूट चुके हैं शौचालय में दरवाजे नहीं हैं और किसी भी शौचालय में टाइल्स नहीं लगे हैं गांव की सुनीता देवी पत्नी भालचंद मौर्य सुनीता देवी सुरेश मौर्य का कहना है कि हमें ₹10000 मिला है सोनमती पत्नी राम बहादुर को अभी तक ₹4000 मिला है और अभी तक किसी भी शौचालय पर आईडी नंबर वगैरह कुछ भी नहीं लिखा है.

गांव की ही पुनीता पत्नी श्याम सुंदर शोभा देवी पत्नी मुनिराज शिव प्रसाद पुत्र बोधन सुभाष पुत्र रामसरण रमेश पुत्र सीताराम मनोज पुत्र शिव प्रसाद चंद्रशेखर पुत्र शिव प्रसाद धर्मेंद्र पुत्र ओमप्रकाश गुलाबी देवी पत्नी राम लोचन का कहना है कि हम लोग शौचालय के लिए कई बार प्रधान से कहें लेकिन हम लोग को शौचालय नहीं मिला अभी तक यह जांच का विषय है जो कि केंद्र सरकार द्वारा ओटियस गांव को घर-घर शौचालय देना है लेकिन फरेनिया गांव को अभी तक सभी लोगों को शौचालय नहीं मिला है लेकिन ब्लॉक के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा ओटीएस गांव को पूर्ण कर दिया गया है।

गांव के ही राम आशीष पुत्र भागीरथी राम गति पुत्र भागीरथी तीजन पुत्र सुंदर ओमप्रकाश पुत्र रामचरण धर्मावती देवी पत्नी जनार्दन के घर बने शौचालय को मौके पर देखने पर पता चला कि उसमें टाइल्स नहीं लगे हैं दरवाजे भी नहीं हैं और छत भी नहीं लगाया गया है जो कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निर्देश है कि जिस दिन ग्राम पंचायत अध्यक्ष का कार्यकाल खत्म होता है उसके बाद अगर किसी ग्राम पंचायत की शिकायत मिली तो उसके 5 साल का जांच होना तय है लेकिन यहां पर ब्लॉक के जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा प्रदेश सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं ग्राम सचिव अलका पांडे से बात करने पर उन्होंने बताया कि मुझे अभी 2 महीने हुए हैं ।

फरेनिया गांव का चार्ज लिए यह मेरे कार्यकाल का मामला नहीं है एडीओ पंचायत खलीलाबाद राम सुमिरन से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि हमारे ब्लॉक में किसी भी शौचालय में टाइल्स लगने का कोई आदेश नहीं है इसीलिए किसी भी शौचालय में टाइल्स नहीं लगाया गया शौचालय में दरवाजे और छत नहीं लगाने के संबंध में बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं है अगर शिकायत मिला तो कार्रवाई किया जाएगा ग्राम प्रधान संतोष कुमार मिश्र से बातचीत करने पर उन्होंने बताया की शौचालय का पैसा सीधे लाभार्थी के खाते में भेजा गया है और गांव वालों द्वारा मेरे ऊपर लगाया गया आरोप निराधार है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here