अंकित कुशवाहा ब्यूरो प्रमुख कुशीनगर-

जिलाधिकारी एस राज लिंगम की अध्यक्षता में एक जनपद एक उत्पाद की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न की गयी।
एक जनपद एक उत्पाद (ओडिओपी) योजना में शामिल केले के रेशे से बनने वाले उत्पाद व इससे जुड़े अन्य उद्दोग को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा की गई नई पहल है। जिलाधिकारी ने बताया कि इसके तहत कॉमन फैसिलिटी सेंटर (सीएफसी) की स्थापना की जानी है, उन्होंड बताया कि इस योजना अन्तर्गत लाभार्थी समूहों को 90 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाएगा, जनपद में अभी तक 524 किसान समूह में जुड़े है,।
जिलाधिकारी ने केले के रेशे से बने उत्पाद के सम्बंध में मार्केटिंग पर जोर देते हुए कहा कि अनुभवी लोगों के माध्यम से ही उत्पाद को अच्छी बाजार मिलेगी। उन्होंने जोर डिया की जो भी लाभ हो इससे जुड़े सभी किसानों को मिलनी चाहिये इस पर विशेष ध्यान देना होगा, इसके अलावा उन्होंने बनाना रिसर्च सेंटर से भी जुड़े रहने की ताकीद की गई।
जिलाधिकारी दवारा मशीनों की खरीददारी के लिए विदेशी तकनीक वाली मशीनों के सम्बंध में सुझाव दिए गए, साथ ही उन्होंने प्रसाशन से हर सम्भव मदद करने का आश्वासन भी दिया गया।
उपायुक्त उद्दोग सतीश गौतम ने केले के रेशे से बने विभिन्न प्रकार के उत्पादों की जानकारी देते हुए बताया कि इस का दायरा बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है, इसके तहत कम से कम 20 लोगों का स्वयंसहायता समूह बनाकर उद्दम स्थापित कराया जाएगा, जिसके लिए सरकार द्वारा 90 प्रतिशत तक का अनुदान देने के साथ ही उत्पादों को बाजार भी मुहैय्या कराया जायेगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अन्नपूर्णा गर्ग, उपायुक्त उद्दोग सतीश गौतम, श्री राम आधार कुशवाहा, अनूप साठले, श्रीमती अनिता राय, सहित अन्य सम्बन्धित गण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here