गोरखपुर/ट्रैफिक विभाग संभागीय परिवहन निगम व आरटीओ द्वारा संयुक्त रूप से अभियान चलाकर पांडेय पैट्रोल पंप के अगल-बगल डग्गामार वाहनों को किया गया सीज वाहन मालिकों में मची खलबली। महानगर में ट्रैफिक की समस्या दिन-पर-दिन बढ़ती जा रही है। वहीं दूसरी तरफ महानगर के सभी इलाकों में डग्गामार वाहनों ने अपना डेरा जमा लिया है जिससे स्थानीय लोगों को परेशानी होती है। इसके साथ डग्गामार वाहन के संचालक अपने यात्रियों से मनचाहा किराया भी वसूलते हैं। और विरोध करने पर आए दिन मारपीट की घटनाएं आम होती जा रही हैं। कल रोडवेज के कर्मचारियों ने इसी बात को लेकर प्रदर्शन भी किया था। जिस पर आज त्वरित कार्रवाई करते हुए आरटीओ गोरखपुर एवं यातायात विभाग गोरखपुर तथा संभागीय परिवहन विभाग के तत्वाधान में गोरखपुर से बिहार जाने वाली और गोरखपुर से अन्य जिलों को जाने वाली डग्गामार वाहनों की चेकिंग की गई दर्जनो वाहनों को पुलिस लाइन में ले जाकर सीज कर दिया गया अब सवाल ये उठता है। कि क्या एक दिन के इस अभियान से डग्गामार वाहनों का जो वर्चस्व है।उसमें कोई कमी आएगी या यह अभियान रोज चलता रहेगा।
हालांकि इस मामले में पूछने पर एसपी ट्रैफिक आशुतोष शुक्ला गोरखपुर ने बताया कि इस तरह की कार्रवाई हमेशा होती रहेगी और किसी भी कीमत पर डग्गामार वाहनों का प्रवेश शहर में वर्जित कर दिया जाएगा । दूसरी तरफ आरटीओ गोरखपुर अनीता सिंह ने बताया कि काफी दिनों से शिकायत मिल रही थी कि डग्गामार वाहनों ने काफी आतंक मचा रखा है जिसको देखते हुए यह कार्रवाई की गई है। और यह कार्रवाई निरंतर चलती रहेगी इस दौरान पुलिस अधीक्षक यातायात आशुतोष शुक्ला, आरटीओ अनीता सिंह, संभागीय परिवहन आर एम पीके तिवारी, ए आर टी एस पी श्रीवास्तव, क्षेत्राधिकारी यातायात नितेश सिंह, पीटीओ श्वेता व इरशाद टी आई विनोद शर्मा सहित अन्य संबंधित कर्मचारी गण कार्रवाई के दौरान मौजूद रहे।

15 COMMENTS

  1. syphilis treatment doxycycline By ingesting a large amount of specific probiotic organisms, which are often not an exact reflection of the composition of an individuals s flora, the introduced species may dominate and delay recolonization of natural flora by up to five months, compared with individuals who did not use probiotics.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here