गोरखपुर/महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केन्द्र चौकमाफी, पीपीगंज, गोरखपुर और रिलायंस फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में डायल आउट ऑडियो कॉन्फ्रेंस उद्यानिकी पर किया गया जिसमें सहजनवां और कैम्पियरगंज तहसील के 70 किसान भाई घर बैठे फोन के माध्यम से महायोगी गोरखनाथ कृषि विज्ञान केंद्र के उद्यान वैज्ञानिक डॉक्टर अजीत कुमार श्रीवास्तव से जायद फसलों के लिए, कद्दूवर्गीय सब्जियों, खीरे की खेती, नवरोपित बाग और पाले की जानकारी के लिए अपने समस्याओं को साझा किया। डॉक्टर श्रीवास्तव ने बताया कि पाले के लिए सबसे जरूरी बात यह होती है कि अपने खेतों में नमी बनाए रखें क्योंकि वातावरणीय तापमान कम होने के वजह से पौधे के कोशिकाओं में जो जल होता है वो कम हो जाता है जिससे उसका आयतन बढ़ जाता है और पत्तियां फटने या सड़ने लगती है ऐसी दशा में शाम के समय खेत में पानी लगाना चाहिए। जिससे की तापमान स्थिर रखा जा सके। दूसरा उपाय यह है कि मेड़ो के आस पास धुँआ कर दिया जाए जिससे फसल के ऊपर तापमान बढ़ाया जा सके। रासायनिक उपचार के तौर पर 80 % वाला घुलनशील सल्फर प्रयोग में लाया जा सकता है जिसकी 3 ग्राम प्रति लीटर की मात्रा मिला करके फसलों पर छिड़काव कर सकते है। साथ ही साथ रिलायंस फाउंडेशन के टोल फ्री हेल्पलाइन 18004198800 के बारे में जानकारी दी गई जिस पर कृषि, पशुपालन, मौसम और सरकारी योजनाओं की जानकारी सोमवार से शनिवार सुबह 9:30 से शाम 7:30 तक निःशुल्क जानकारी ले सकते है।

54 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here