गोरखपुर | गोला (मनोज मिश्रा) कोरोना नामक वायरस के कारण फैल रहे संकमण को लेकर पूरी दुनिया में जहा है तौबा मचा हुआ है वही स्कूल कॉलेज बन्द होने के कारण छात्र तथा छात्राओं का पूरा सत्र ही बर्बादी के मुहाने पर पहुंच गया है ,जो विद्यालय खुलते ही इन के शोषण का कार्य शुरू होगा बन्द पड़े सत्र की भी फीस वसूली की जाएगी जो अभिभावकों के लिए किसी मुसीबत से कम नही जान पड़ता।
उल्लेखनीय है ,की कोरोना नामक वायरस के संक्रमण के कारण बन्द पड़े स्कूल कॉलेज के खुलने के बाद सरकार की नितियाँ कहा तक कारगर साबित होंगी यह आने वाला समय बताएगा परन्तु इतना तो तय है ,कि विद्यालयों के द्वारा फीस वसूली का कार्य क्रम शुरू होगा और यह अभिभावक के लिए किसी मुसीबत से कम नही विद्यालयों में तैनात तमाम अध्यापको ने नाम न छापने के शर्त पर बताया कि सरकार को चाहिए कि विद्यालयों के खुलते ही छात्र, छात्राओं को प्रमोट कर नये सत्र की शुरुआत कर अभिभावकों को राहत देने का कार्य करना चाहिए बताते चलें कि कुछ छात्र, छात्राओं का पठन पाठन का कार्य विगत कुछ दिनों से संचालित होरहा है ,वही कुछ का सरकार के मनसा के अनुसार विगत कुछ दिनों में संचालन होना है | जिसको ध्यान में रखकर छात्रों को प्रमोट कर नए सत्र की शुरुआत करना जनहित में एक वरदान साबित होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here