गोरखपुर/यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए डीआईजी /एसएसपी जोगिंदर कुमार पुलिस लाइन सभागार में शहर के सम्मानित नागरिकों के साथ गोष्टी करते हुए आम राय लेते हुए चर्चा करते राय जाना कैसे यातायात व्यवस्था को दुरुस्त किया जा सकता है सम्मानित नागरिकों ने अपने-अपने अलग-अलग सुझाव दिए जिसको गंभीरता पूर्वक डीआईजी/ एसएसपी जोगिंदर कुमार ने लिया संभ्रांत नागरिकों ने पैडलेगंज से छात्रसंघ चौराहे तक आय दिन जाम लगने की बात करते हुए बताया कि रोड के दोनों तरफ आम नागरिकों द्वारा चार पहिया वाहन खड़ा कर दी जाती है जिसकी वजह से प्रतिदिन दिनभर जाम की स्थिति बनी रहती है रोड के दोनों तरफ पैदल चलने वाले फुटपाथ का कोई मतलब नहीं है जिसे हटाया जाए रूट और चौड़ा हो जाएगा जिससे जाम की स्थिति कम हो सकती है इसी तरह मोहद्दीपुर चौराहे से आरकेबीके तक के रोड चौड़ा होने के बावजूद भी जाम की स्थिति टेंपो चालकों के वजह से बनी रहती है जिसे चौराहों पर टेंपो वाले अपनी सवारी उतारते रहते हैं लेकिन ट्रैफिक के जवान बोलने में परहेज नहीं करते हैं इसी तरह ट्रांसपोर्ट नगर से नौसड चौराहे तक जाम की स्थिति बनी रहती है ठेले व टैंपू के वजह से जाम लगता है ठेले व टेंपो वालों को व्यवस्थित नहीं किया जाएगा तब तक जाम की स्थिति बराबर बनी रहेगी गोलघर कचहरी चौराहे व गणेश चौराहे पर तथा विजय चौराहे पर जाम की स्थिति बाएं रूट को हमेशा व्यवधान कर दिया जाता है। जैसे विभिन्न योजनाओं को आम सम्मानित नागरिकों ने दिया
ठेले वालों को सड़क से दूर करें तभी जाम से मिलेगी निजात
ठेले वालों को सड़क से दूर करें तभी जाम से निजात मिलेगी
शहर के ट्रांसपोर्ट नगर से राजघाट पुल तक रोजाना लगने वाले जाम की प्रमुख वजह सड़क पर ठेले वालों का कब्जा है। शहरवासियों ने सुझाव दिए हैं कि अगर ठेले वालों को सड़क से दूर कर व्यवस्थित कर दिया जाए तो जाम से निजात मिल जाएगी।लोगों का कहना है कि ट्रांसपोर्ट नगर से राजघाट पुल तक सड़क पर अतिक्रमण होने की वजह से ही जाम लगता है। चौराहे के आसपास और सड़क पर ही ठेले वाले दुकान लगा देते हैं। ठेलों पर सामान खरीदने के लिए ग्राहक अपने वाहन सड़क पर रोक देते हैं, इससे जाम लग जाता है।
इसी तरह राजघाट पुल से पहले हार्बर्ट बंधे की ओर कटे मार्ग पर लोग गाड़ी अचानक मोड़ देते हैं। वहां पर जब पुलिस मौजूद होती है तब तक तो गनीमत रहती है, नहीं तो जाम लग जाता है। यही हाल ट्रांसपोर्ट नगर चौराहे पर भी है। ट्रांसपोर्ट नगर से लेकर राजघाट पुल तक जाम की बड़ी वजह है कि ठेले वाले बिल्कुल सड़क पर आ जाते हैं। जिस वजह से लोग खरीदारी करने को रुकते हैं और जाम लग जाता है। ठेले वालों को थोड़ा पीछे या दूसरी जगहों पर भेजा जाए तो जाम से निजात मिल सकती है।
जब वहां पर पुलिस वाले होते हैं तो जाम तुरंत खत्म हो जाता है, नहीं तो लोगों को देर तक परेशान होना पड़ता है।
चौराहे के पास इनका ही कब्जा रहता है, जिस वजह से जाम लग जाता है। अगर ऑटो को चौराहे से दूर व्यवस्थित कर दिया जाए तो जाम पर काफी हद तक अंकुश लगाया जा सकता है। इसी तरह धर्मशाला पुल के नीचे ऑटो चालकों और ठेलो के वजह से जाम लगी रहती है अब देखना है कि डीआईजी/ एसएसपी द्वारा लिए गए सुझाव के बाद जाम की स्थिति से शहरवासियों को निजात मिल सकती है कि नहीं वैसे शहरवासी निवर्तमान पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक के कार्यकाल को याद कर रहे हैं बैठक में पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक आशुतोष शुक्ला पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी आरटीओ अनीता सिंह क्षेत्राधिकारी ट्रैफिक नितेश सिंह सहित शहर के सम्मानित नागरिक पुलिस लाइन सभागार में मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here