डाक टाइम्स न्यूज… कुशीनगर जिले के नारायणी तटबंध छितौनी बांध व स्पर नदी के विकराल रूप से इस वर्ष तो बच गया बाढ़ आने से लेकिन यही उदासीनता रहा तो वह दिन दूर नहीं जब तटबंध बंधा स्पर टूट गया तो कई हजारों की संख्या में जनधन की हानि हो सकती है ऐसी स्थिति ना हो जर्जर बंधे स्पर ठोकर को मरम्मत करने के वास्ते से बाढ़ खंड खड्डा ने जर्जर नोज स्पर जो जर्जर की स्थिति में है उसका एस्टीमेट बनाकर उत्तर प्रदेश सरकार के पास प्रस्ताव बनाकर भेजा जिसे सरकार ने गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए 1. किलोमीटर 6.800 पर नोज एवं लांचिंग स्पर का कार्य पर 529.37 लाख, 2. किलोमीटर 8.170 से 8.500 के मध्य रेवेटमेंट तथा स्पर किलोमीटर
8.221- 8.330, 8.400 एवं किलोमीटर 8.511 पर निर्मित स्पर मध्य लांचिंग स्पर का कार्य 1226.37 लाख, किलोमीटर
8.530 से 8.780 के मध्य स्टीमेट तथा स्पर किलोमीटर 8.551, 8.650 व 8.800 पर निर्मित स्पर के लांचिंग स्पर का कार्य 1086.38 लाख वीरभार स्पर एवं कार्य स्पर के लांचिंग स्पर का कार्य 880.67 लाख मंजूर कर धन आवंटन कर दिया है. बाढ़ खंड कुशीनगर ने धन आवंटन होते ही समय से टेंडर भी कर दिया लेकिन अब तक कार्य शुरू न होने से बंधे से सटे बसे लोगों में भारी आक्रोश बढ़ता जा रहा है कि आखिर में अब तक कार्य शुरू क्यों नहीं हो रहा इसका जिम्मेदार कौन? क्या भारी वर्षा होने का इंतजार तो नहीं हो रहा और ऐसा होता है तो कार्य मरम्मत करने में ठेकेदार अभियंताओं को तमाम कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और जिम्मेदारों पर उंगली भी उठ सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here