*गोरखपुर।* अपर पुलिस महानिदेशक अखिल कुमार अपनी अलग कार्यशैली के लिए जाने जाते हैं। उनकी सक्रियता को लेकर महकमा भी खासा सतर्क नज़र आता है। ताजा वाकया कुछ तोंद वाले पुलिसकर्मियों से जुड़ा है जिन पर नज़र पड़ी तो जवाब देना पड़ गया। बताया जा रहा है कि एडीजी ने इन सिपाहियों को फिटनेस का महत्‍व समझाते हुए तोंद अंदर करने के लिए 10 दिन का वक्‍त दिया है। एडीजी ने कहा खुद को फिट रखने से बीमारियों से तो बचाव होगा ही ड्यूटी भी अच्‍छे ढंग से कर सकेंगे। 
दरअसल, एडीजी किसी काम से सर्किट हाउस जा रहे थे कि रास्‍ते में उनकी नज़र एक हेड कांस्‍टेबल पर पड़ी जिनकी तोंद निकली हुई थी। एडीजी वहीं रुक गए। उन्‍होंने हेड कांस्‍टेबल के पास जाकर पूछा कि इतनी तोंद क्‍यों निकली है। बीमार हैं या फिर खाना अधिक खाते हैं। हेड कांस्‍टेबल ने उन्‍हें जानकारी दी वह ब्‍लड प्रेशर और शुगर के मरीज हैं। भोजन भी ज्‍यादा हो जाता है। इस पर एडीजी ने उन्‍हें भोजन कम करने और पेट अंदर करने की सलाह दी। उन्‍होंने कहा कि अपनी फिटनेस पर ध्‍यान देंगे तो शरीर स्‍वस्‍थ रहेगा। अधिक दिनों तक जीवित रहेंगे। यही नहीं ड्यूटी पर अच्‍छा प्रदर्शन भी करेंगे।
उन्‍होंने हेड कांस्‍टेबल को 10 दिन में तोंद कम करके दिखाने का लक्ष्‍य दिया। इसके बाद सर्किट हाउस से लौटते वक्‍त पैडलेगंज चौकी के पास भी उनकी नज़र तोंद वाले एक पुलिसकर्मी पर पड़ गई। एडीजी ने उनसे पूछा तो तो हेड कांस्‍टेबल ने अनियमित ड्यूटी की बात कही। इस पर एडीजी ने उनकी ड्यूटी में कुछ परिवर्तन कराने की बात कही और 10 दिन का लक्ष्‍य देते हुए कहा कि तब तक तोंद अंदर करके दिखाएं। इसके बाद करीब दो घंटे तक एडीजी ने शहर का निरीक्षण कर ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों का जायजा लिया। जहां कहीं उन्‍हें तोंद वाले पुलिसकर्मी दिखाई दिए उन्‍होंने उन्‍हें फिटनेस का महत्‍व बताते हुए तोंद अंदर करने को कहा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here