कोविड कंट्रोल हेतु जिलाधिकारी श्री संजय खत्री द्वारा जूम मीटिंग आयोजित की गई। जिससे जिले के सारे पदाधिकारी /सम्बन्धित अधिकारी गण जुड़े रहे। इस संदर्भ में श्री खत्री ने कोविड संक्रमण को रोकने के लिए काफी गंभीर प्रयासरत दिखे तथा सभी अधिकारियों को कोविड कंट्रोल हेतु तीन मंत्र अमल करने एवं करवाने का निर्देश दिया। सोशल डिस्टेंसिंग , मास्क एवं सेनेटाइजेशन इस टीम में उन्होंने सभी अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारियां दी तथा उन्होंने कहा कि जिन को जो जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं वह पूरी लगन व मेहनत से अपनी जिम्मेदारी को पूरा करें। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी शशि कुमार सिंह को कोविड कंट्रोल रूम का नोडल अधिकारी नामित किया।
उक्त बैठक में जिलाधिकारी ने जन जागरूकता की भी बात की तथा कहा कि कोविड बचाव के प्रति जागरूकता फैलाई जाए। सोशल डिस्टेंसिंग, तथा प्रचार के संदर्भ में सभी अधिशासी अधिकारियों नगर पंचायत/ नगर पालिका को निर्देश दिया गया कि साप्ताहिक बंदी के दौरान स्वच्छता एवं सेनेटाइजेशन के विशेष अभियान तथा अन्य दिनों में भी यह अभियान जारी रखें। सभी निगरानी समिति, प्रवासी या बाहरी मजदूरों पर ध्यान रखें। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया गया कि निगरानी समिति को मॉनिटर किया जाए एवं देखा जाए कि प्रवासी व्यक्ति कहां से आ रहे हैं तथा इस संदर्भ में रोज़ रिपोर्ट दें।
जिलाधिकारी ने सभी मजिस्ट्रेटो तथा पुलिस ऑफिसर की टीम को निर्देशित किया कि कोविड गाइड लाइन का पालन करवाया जाए। उन्होंने कहा कि *बचाव ही उपचार है* को प्रसारित किया जाए। हर कोविड मरीज डेटाबेस होना चाहिए। और उनके घर वालों का नंबर होना चाहिए। सीसीटीवी कैमरा सारे वार्ड में लगेंगे वीडियो कांफ्रेंसिंग फोन से कनेक्ट करके मरीज डॉक्टर से बात करें। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया कि मरीजों की वास्तविक संख्या बताई जाए जिससे ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा सके। कोविड वार्ड को सशक्त करें रेमडीसिवर उपलब्धता, कोरोना किट का वितरण, कोविड टीकाकरण का प्लान, सीटी स्कैन चेस्ट नियमित तौर पर सौंपी जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here