कोरोना महामारी के जनपद में बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लगातार प्रयासरत जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम की अध्यक्षता में कोविड नियंत्रण की नियमित समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
उक्त बैठक में जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम कोविड रोकथाम के संदर्भ में दैनंदिन कार्यों का जायजा लिया। डोर टू डोर सर्वे एवं सर्विलांस टीम के खराब प्रदर्शन पर अधिकारियों को फटकार भी लगाई । उन्होंने इस बात पर सख्ती व्यक्त की कि सिर्फ बैठकों में शामिल हो जाने भर से आपकी जिम्मेदारी खत्म नहीं हो जाती। ईमानदारी से कार्य किया जाना चाहिए। आज एक बार फिर डीएम की नाराजगी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के ऊपर जाहिर हुई उन्होंने कहा कि कार्य को पूरी ईमानदारी से किया जाए। हर व्यक्ति दिए गए टास्क को पूरा करें।
इस क्रम में आर0आर0टी0 के नोडल अधिकारी को यह सख्त निर्देश दिया गया कि आर0आर0टी0 से निरंतर संवाद स्थापित कर रोज का फीडबैक प्राप्त करें । आर0आर0 टी0 के साथ दैनिक वर्चुअल मीटिंग का आयोजन हो एवं फीडबैक के द्वारा समस्या से अवगत हुआ जाय फिर नियमित समीक्षा बैठक में उन समस्याओं के समाधान की दिशा में कार्य किया जाए। डीएम ने इस बात पर भी जोर दिया कि स्थिति की वास्तविकता को जानने की जरूरत है। आर0 आर0 टी0 के नोडल अधिकारी से उन्होंने आयुष एवं होम्योपैथिक के डॉक्टर की सूची बनाने को कहा जिन्हें आर0 आर0 टीम में शामिल किया जाना चाहिए। इससे कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने में मदद मिल सकेगी।
इस अवसर पर जिला अधिकारी एस०राजलिंगम के साथ-साथ अपर पुलिस अधीक्षक अयोध्या प्रसाद सिंह मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र गुप्ता मुख्य चिकित्साअधीक्षक बजरंगी पांडे एवं अन्य पदाधिकारी गण मौजूद थे।

2 COMMENTS

  1. I’m no longer sure the place you are getting your information, however
    great topic. I must spend some time learning much more or working out more.
    Thank you for magnificent information I was looking for this
    info for my mission.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here