कोविड के दौरान 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चे जिनके माता पिता की मृत्यु हो चुकी है तथा देखभाल को कोई नहीं है उसके संबंध में सूचना एकत्र की गई ऐसे 12 बच्चे प्रकाश में आये हैं। जिलाधिकारी महोदय ने कहा कि ऐसे बच्चों की काउंसलिंग, खाने पीने की व्यवस्था, शेल्टर का प्रबंध किया जाना चाहिए। इस संदर्भ में एन०जी०ओ० या ग्राम प्रधान से भी सहायता ली जा सकती है। जिलाधिकारी महोदय ने कहा बच्चों को तीनों समय खाना मिलना चाहिए , उन्हें सुरक्षित रखने के उपाय होने चाहिए। इस संदर्भ में उन्होंने क्षेत्राधिकारी को निर्देश दिया कि बच्चों की मॉनिटरिंग होती रहनी चाहिए। मोनिटरिंग संबंधित थाने द्वारा किया जाए एवं मोनिटरिंग के लिए जाने वाले पुलिसकर्मी सादे ड्रेस में जाएं तथा उसमें एक महिला आरक्षी आवश्यक रूप से हो।
इस बैठक में जिलाधिकारी श्री एस० राजलिंगम के साथ साथ, जिला प्रोबेशन अधिकारी विजय कुमार पांडेय, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष श्रीमती दीपाली सिन्हा, जिला प्रोग्राम अधिकारी एस० के० सिंह व क्षेत्राधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here