मतदाता सूची, जल जीवन मिशन, वरासत प्रक्रिया स्वामित्व योजना में प्रगति की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी। बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी श्री एस० राजलिंगम ने की। बैठक की शुरुआत में जागृति फाउंडेशन के अनिल त्रिपाठी द्वारा एक प्रस्तुतीकरण दिया गया। जिसमें स्वच्छ भारत अभियान को एक सपना नहीं एक व्यवस्था बताया। इसमें कचरा के उचित प्रबंधन हेतु अर्धभूमिगत कचरा पात्र के संबंध में जानकारी दी गई। जिलाधिकारी महोदय के द्वारा जागृति फाउंडेशन को धन्यवाद किया गया तथा पडरौना और कुशीनगर में इस प्रकार के कचरा प्रबंधन हेतु प्लांट लगाए जाने की आवश्यकता बताई गई। जिलाधिकारी महोदय ने सभी अधिशासी अधिकारियों को कचरा प्रबंधन के संदर्भ में निर्देशित किया। उक्त बैठक में अपर जिलाधिकारी के द्वारा सभी एसडीएम, ईओ तथा नगर पालिका एवं नगर पंचायत के चेयरमैन को निर्देश दिया गया कि किसी व्यक्ति की यदि कोविड मृत्यु हुई हो और वह खतौनी में खातेदार है तो उसकी वरासत तत्काल करें। प्रतिदिन राहत कार्यालय को सूचित करें। प्रमाण पत्र हो चाहे ना हो यदि खातेदार की कोविड मृत्यु हुई है तो उसकी वरासत की जिम्मेदारी आपकी होनी चाहिए। इस संदर्भ में उन्होंने अधिशासी अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि कोई व्यक्ति यदि शहरी क्षेत्र में निवास करता है किंतु गांव में जमीन है और उसकी कोविड मृत्यु हुई है तो उसकी वरासत करवा ले ।
बैठक को आगे बढ़ाते हुए जिलाधिकारी महोदय ने कोविड के संदर्भ में अस्पतालों में आधारभूत स्वास्थ्य संरचना को मजबूत करने को कहा । इस संदर्भ में उन्होंने मेडिकल इक्विपमेंट्स में अस्पतालों को एनालाइजर ,ओवरहेड वार्मर, वेंटिलेटर ,आईसीयू बेड, पाइपलाइन की जरूरत बतायी। जिलाधिकारी महोदय ने नगर पालिका एवं नगर पंचायत के अध्यक्षों को संबोधित करते आग्रह किया कि वे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को गोद ले सकते हैं। उन्होंने सभी अस्पताल में पीकू एवं सभी प्रकार के मेडिकल इक्विपमेंट्स की जरूरत को पूरा करने का अनुरोध किया उन्होंने डिजिटल x-ray मशीन के बारे में भी बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here