कुशीनगर विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण की 17वी बोर्ड बैठक होटल रॉयल रेजीडेंसी कुशीनगर में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता आयुक्त गोरखपुर रवि कुमार एन जी ने की।
उक्त बैठक में कई विचारणीय विन्दुओं पर समीक्षा की गई एवं इस संदर्भ में निर्णय लिया गया। विचारणीय विन्दुओं में नगर पंचायत कुशीनगर द्वारा हाउस टैक्स व वाटर टैक्स न लगाएं जाने पर विचार, कुशीनगर में विपत्स्ना केंद्र खोले जाने पर चर्चा, हिरण्यवती नदी के आस पास सौंदर्यीकरण, पथिक निवास कुशीनगर में मेन गेट का निर्माण, विद्युत की निर्बाध आपूर्ति हेतु ट्रांसफार्मर अपग्रेडेशन, पर्यटन हेतु नौका विहार, रामाभार स्तूप के पास लाइट एंड साउंड शो, फ़ूड कोर्ट, फुटपाथ पर वृक्षारोपण, जैसे तमाम मुद्दों पर समीक्षा हुई।
बैठक में संयुक्त मजिस्ट्रेट पूर्ण बोरा के द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया गया। आयुक्त महोदय ने कहा कि जो भी निर्माण हो वह निर्माण उपयोगी हो, उसका मेंटेनेंस हो तथा वह गुणवत्ता युक्त हो। इस संदर्भ में निर्माण कार्यों के तकनीकी पहलुओं पर भी जानकारी उन्होनें ली। पर्यटन स्थल को साफ सुथरा करने के लिए और क्या किया जा सकता है इस संदर्भ में उन्होंने अधिकारियों से सुझाव भी मांगा। उन्होंने कहा कि हिरण्यावती नदी का धार्मिक महत्व ज्यादा है अतः नदी के आसपास सौंदर्यीकरण तथा उसके पानी को साफ रखना काफी जरूरी है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नई तकनीकी का प्रयोग करके जैसे बायो टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके पानी का शुद्धीकरण करें तथा इस बात पर ध्यान दिया जाए कि किसी भी प्रकार का कंस्ट्रक्शन कार्य इस स्थल के आसपास नहीं हो। पर्यटन हेतु आधारभूत सुविधाओ का विकास काफी जरूरी है इस संदर्भ में योजना बना कर क्रियान्वयन करे। उन्होंने कहा कि यदि इस कार्य हेतु पेड़ काटने की जरूरत होती है तो काटे गए पेड़ के सापेक्ष 10 गुना पौधे लगाए जाए, उसके विधिक पहलू को देखा जाए। किसी भी प्रकार का अतिक्रमण है तो उसको हटाने की कार्यवाही की जाए । आयुक्त महोदय ने निर्माण के साथ-साथ उसके मेंटेनेंस पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा निर्माण होने के बाद उसका मेंटेनेंस कैसे होगा और कौन करेगा यह भी तय किया जाना चाहिए । इस क्रम में कुशीनगर मंदिर क्षेत्र में टूरिस्ट इनफॉरमेशन सेंटर की स्थापना के मुद्दे पर उन्होंने बोलते हुए कहा कि यह सुविधाजनक होना चाहिए। जैसे अच्छी हिंदी और अच्छी इंग्लिश बोलने वाले लोगो की उपलब्धता, कुशीनगर से दूसरी जगह जाने के लिए सूचनाएं उपलब्ध हो आदि।
बैठक समाप्ति के उपरांत आयुक्त महोदय द्वारा इस संदर्भ में स्थलीय निरीक्षण भी किया गया। उन्होंने हिरण्यावती नौका विहार, बुद्ध चिल्ड्रन पार्क, करुणासागर, बुद्ध घाट इन सभी स्थलों का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा सबसे बड़ी चुनौती पानी को शुद्ध करने की है ।
इस अवसर पर जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम, मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, संयुक्त मजिस्ट्रेट पूर्ण बोरा, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी ,अधिशासी अभियंता जल निगम, बाढ़, अधिशासी अधिकारी कुशीनगर, प्रभागीय वन अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी, अभियंता लोक निर्माण विभाग, अभियंता विद्युत समेत संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

44 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here