कोविड संबंधित नियमित समीक्षा बैठक जिलाधिकारी कार्यालय कक्ष में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने की. बैठक में जिलाधिकारी ने आर0आर0टी0 टीम के द्वारा सर्वे की रिपोर्ट ली और उन्हें निर्देश दिया कि जहां सबसे कम सैंपलिंग है वहां फोकस ज्यादा करें। इस संदर्भ में उन्होंने सीएमओ को भी निर्देश दिया कि सभी आर0 आर0 टी0 को सक्रिय करावे। सैंपल की संख्या बढ़ाई जाए और रूरल एरिया में अनिवार्य रूप से सैंपलिंग करवाई जाए ।
तीसरी लहर की चुनौती को देखते हुए जिलाधिकारी ने ऑक्सीजन प्लांट, ऑक्सीजन पाइप लाइन के कार्य को जल्द से जल्द पूरा करवाने का निर्देश दिया। प्लांट हेतु प्लेटफार्म को भी समय रहते पूरा करने का निर्देश जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी को दिया। कोविड के आज दो नए मामले प्रकाश में आये हैं। ये मामले दूदही और पड़रौना के हैं। इस संदर्भ में उन्होंने ज्यादा से ज्यादा कांटेक्ट ट्रेसिंग करवाए जाने का निर्देश दिया। मरीज की हिस्ट्री की जानकारी ली। और इस बात पर चिंता जाहिर की कि कोरोना के मरीज कही ऐसे ही खुले में तो नहीं घूम रहे। उन्होंने कहा कि कोविड मामलों के संदर्भ में सिर्फ तथ्य ही नहीं उसका उचित विश्लेषण भी होना चाहिए। संचारी रोग के संदर्भ में उन्होंने अभियान के नोडल को निर्देश दिया की लक्षणयुक्त मरीजों की पहचान कर तत्काल इस संदर्भ में प्रभावी कदम उठाए। उन्होंने कहा कि
ए0 इ0 एस0 और जे0 ई0 के केस में लापरवाही मिलने पर आशा से स्पष्टीकरण नहीं बल्कि कार्यवाही की जाए।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक , अपर जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय, अपर उप जिलाधिकारी रामकेश यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेंद्र गुप्ता एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गण मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here