जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की तैयारी बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने की। बैठक में विभिन्न विभागों से आये अधिकारियों से उनके विभाग के लम्बित कार्यो की रिपोर्ट ली गई। इस संदर्भ में जल निगम, विद्युत विभाग, चिकित्सा विभाग, पशुपालन विभाग, कृषि विभाग, शिक्षा विभाग इत्यादि के द्वारा जो भी लंबित कार्य थे। लंबित कार्यो के प्रगति की समीक्षा जिलाधिकारी द्वारा की गई।
उक्त के संदर्भ में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा की आप अपना होमवर्क करके आइए। कार्यो में शिथिलता बर्दाश्त नहीं होगी। किसी भी प्रकार की कार्यवाही लंबित नहीं होनी चाहिए। हर कार्य की प्रगति का स्पेसिफिक डाटा होना चाहिए तथा संबंधित कार्य के फोटोग्राफ भी होने चाहिए। कार्य के हर स्तर की सूची बनाई जाए और जितने भी बकाया कार्य हैं सबको पूर्ण किया जाए। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि इस संदर्भ में आयोजित हर बैठक को गंभीरता पूर्वक लिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा बैठक में जिन कार्यो के पूरा करने का निर्देश दिया जाता है उसको यदि गंभीरता पूर्वक नहीं लिया गया एवं कार्य को समय रहते नहीं पूरा किया गया तो कार्यवाही होगी।
जिलाधिकारी श्री लिंगम ने बैठक में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि जनप्रतिनिधि गण की बैठक के दौरान जो भी शिकायतें हैं उन शिकायतों को समय रहते पूरा कर लिया जाए। इस संदर्भ में सौभाग्य योजना, बिजली बिल, चिकित्सकीय सुविधाएं, सर्व शिक्षा अभियान, प्रधानमंत्री आवास योजना,पशुपालन इन सब मुद्दों पर चर्चा हुई, और जिलाधिकारी ने किसी भी प्रकार के कार्य को बकाया रखने पर कार्यवाही किए जाने हेतु निर्देश दिया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनुज मालिक, परियोजना निदेशक एवं संबंधित विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here