गोरखपुर। जगदीशपुर भलुवान में पिता को पीटते देख पुत्री काजल सिंह ने वीडियो बनाने लगी विजय व उपरोक्त द्वारा काजल को गोली मार दिया गया था काजल को पहले जिला चिकित्सालय मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में भर्ती कराया गया था स्थिति नाजुक होता देख डॉक्टरों की टीम ने मेडिकल कालेज लखनऊ रेफर कर दिया था परिजनों ने किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था इलाज के दौरान काजल की मृत्यु हो गयी थी। अभियुक्तों की तलाश में पुलिस सरगर्मी से लगी हुई थी जयंती देवी पत्नी सुभाष निवासी ग्राम जगदीशपुर भलुवान गगहा पुलिस पहले ही पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। शातिर अपराधियों के ऊपर 50 – 50,000 का इनाम रखा गया था बुधवार 1 सितंबर को एडीजी जोन अखिल कुमार द्वारा स्थलीय निरीक्षण कर ग्रामीणों व परिजनों से वार्ता कर अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली टीम को एक लाख इनाम घोषित किया था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा ने सर्विस लांस व क्राइम ब्रांच तथा गगहा पुलिस को अभियुक्तों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के लिए लगाया था गगहा पुलिस और सर्विस लांस की टीम ने जगदीशपुर भलुवान निर्माणाधीन अंडर पास से अभियुक्त हरीश पुत्र इंद्रपाल निवासी हाशिमपुरा थाना देवबंद जनपद सहारनपुर को गिरफ्तार कर उसके पास से एक तमंचा 315 बोर एक जिंदा कारतूस 315 बोर 2550 रुपये नगद तथा मुकदमा संख्या 303/21 धारा 392 /411 भादवी से संबंधित लूट का पैसा बरामद किया। पुलिस लाइन व्हाइट हाउस में पुलिस अधीक्षक दक्षिणी अरुण कुमार सिंह ने प्रेस वार्ता कर बताया कि राजीव नयन सिंह निवासी जगदीशपुर भलुवान थाना गगहा तथा उसी गांव के रहने वाले सुभाष प्रजापति पुत्र भोला प्रजापति के मध्य कुछ पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद व कहासुनी हो गया था उक्त विवाद को लेकर 20 8 2021 को सुभाष प्रजापति के लड़के विजय प्रजापति अपने दो अन्य साथियों के साथ राजीव नयन के घर पर 11:30 बजे जाकर अन्य दो मोटरसाइकिल से विजय व उसका साथी जिसको चाचा चाचा कह कर राजीव नयन सिंह के घर का दरवाजा खोलवाया धर से बाहर निकलने पर मारने लगे उसके अन्य साथी हाथ में तमंचा लिए खड़ा थे तभी घर के अंदर से राजीव नयन सिंह की लड़की व औरत भी आ गई और उनकी लड़की मोबाइल से वीडियो बनाने लगी तो विजय ने वीडियो बनाने से मना किया जब नहीं मानी तो विजय प्रजापति ने अपने पास लिए पिस्टल से गोली पेट मे मार दिया तथा उसके हाथ से मोबाइल छीन कर अपने पास रख लिया तथा गोली मारने के बाद मोटरसाइकिल से अलग-अलग दिशाओं में भाग गए भलुवान स्थित निर्माणाधीन अंडरपास के नीचे एक स्थान पर अपने पास लिए तमंचे व कारतूस को प्लास्टिक में रखकर मिट्टी के ढेर में दबा दिया तथा बस्ती लखनऊ होते हुए सहारनपुर चला गया कुछ दिन इधर उधर रहने के उपरांत थाना ज्वालापुर जनपद हरिद्वार उत्तराखंड के एक चयन स्केचिंग के मुकदमे में हाजिर होने के लिए चला गया कोरोना चेकप करा लिया पता चला कि ग्राम जगदीशपुर भलुवान वाले मुकदमे में 50000 का इनाम घोषित हो गया है पुलिस मेरे पीछे पड़ी हुई है जगदीशपुर भलुवान वाले घटना में हाजिर होने के लिए वकील से मिलने आया था जिसे जगदीशपुर भलुवान निर्माणाधीन अंडरपास के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार करने वालों में प्रमुख रूप से प्रभारी निरीक्षक गगहा अमित कुमार दुबे अतिरिक्त निरीक्षक राम भवन यादव सर्विस लांस प्रभारी उपनिरीक्षक धीरेंद्र कुमार राय उपनिरीक्षक अमित चौधरी हेड कांस्टेबल दीपू कुमार कांस्टेबल नंदलाल गौड़ का सराहनीय योगदान रहा।

सम्पादक
धीरज शुक्ल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here