गोरखपुर रेंज के सभी जिलों में सक्रिय हिस्ट्रीशीटरों की सूची तैयार कर कार्रवाई का आदेश डीआईजी राजेश डी मोदक ने दिया है। डीआईजी ने साफ कहा कि सभी एसपी सूची की समीक्षा कर सक्रिय हिस्ट्रीशीटर, बदमाशों की सूची की समीक्षा कर लें और सभी पर पुलिस की कार्रवाई होनी चाहिए ताकि कानपुर जैसी घटना सामने ना आने पाए।

इसके साथ ही जिले के दो बड़े हिस्ट्रीशीटर एक लाख के इनामी राघवेंद्र यादव और राकेश यादव की तलाश कर दबोचने का भी आदेश डीआईजी ने दिया है। यह दोनों लंबे समय से फरार चल रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, कानपुर में हिस्ट्रीशीटर के घर दबिश डालने के दौरान ही पुलिस टीम पर हमला हुआ और फिर सीओ सहित आठ पुलिस वाले शहीद हो गए। घटना कानपुर में भले हुई है लेकिन पूरे प्रदेश में इस घटना से हड़कंप मचा है। पुलिस अफसरों अपराधियों पर नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी है।

योजनाबद्ध तरीके से पकड़े जाए बदमाश
साथ ही पुलिस वालों को हिदायत दी गई है कि वह जल्दबाजी में कोई काम ना करें बल्कि पूरी तैयारी के साथ बदमाशों को दबोचने के लिए जाएं। डीआईजी ने आदेश दिया है कि बदमाश को योजनाबद्ध तरीके से पकड़ने के दौरान आगे की पंक्ति में एसओजी होगी।

एसओजी के ट्रेंड पुलिस वाले ही कमान संभालेंगे ताकि किसी भी अपरिहार्य स्थिति से वहीं पर निपटा जा सके। डीआईजी राजेश डी मोदक ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर की कुंडली नए सिरे से तैयार कर कार्रवाई का आदेश दिया गया है। कई इनामी बड़े हैं जो फरार हैं, उनकी भी समीक्षा की जाएगी। जरूरत पड़ेगी तो इनाम भी बढ़ाया जाएगा। इस संबंध में सभी एसपी को पत्र भेजकर निर्देशित कर दिया गया है।

योगेंद्र नरायण (ब्यूरो प्रमुख गोरखपुर)

15 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here