अनुसूचित जाति की मांग को लेकर निषाद, कश्यप, बिंद समाज सर्वदलीय निषाद कश्यप यूनियन के बैनर तले कुंवर सिंह निषाद के नेतृत्व में निषाद पंचायत 20 सितंबर को गोरखपुर के खुटहन में स्वर्गीय जमुना निषाद जी की समाधि स्थली पर आयोजित की गई, जिसमें निषाद समाज के सैकड़ों प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
पंचायत को संबोधित करते हुए सर्वदलीय निषाद कश्यप यूनियन के राष्ट्रीय संयोजक कुंवर सिंह निषाद ने कहा कि भाजपा सरकार निषादों को किये गये आरक्षण के वादे से मुकर रही है निषाद आरक्षण भाजपा के चुनाव घोषणा पत्र का हिस्सा रहा है यदि भाजपा अपने वादे से मुकरती है तो निषाद कश्यप समाज का आक्रोश भाजपा सरकार पर बहुत भारी पड़ेगा, हम अपने संकल्प पर कायम हैं “आरक्षण नहीं तो भाजपा को वोट नहीं” इस बात को भी सरकार को समझ लेना चाहिये।

विदित हो कि यूनियन के संयोजक कुंवर सिंह निषाद अपने सैकड़ो समर्थकों के साथ भाजयुमो प्रदेश महामंत्री से स्तीफा देकर अपने समाज के लिये अनुसूचित जाति आरक्षण का लाभ दिलाने के लिये 11 जुलाई को मथुरा से आरक्षण पदयात्रा का आरंभ किया था, वाराणसी में यात्रा निकालने को लेकर पुलिस के साथ टकराव और मारपीट हुई थी जिसमें 11लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था, यूनियन को प्रदेशभर में निषाद कश्यप बिंद समाज का जोरदार समर्थन मिल रहा है।

सपा नेता अमरेंद्र निषाद ने कहा कि भाजपा निषाद कश्यप समाज के साथ धोखा कर रही है इसका जवाब हम 2022 के चुनाव में देंगे। भाजपा ने हमेशा निषादों को छलने का कार्य किया है। भाजपा की कथनी और करनी में अंतर है।

निषाद विकास महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष छोटे लाल निषाद ने कहा कि हमारे गरीब, कमजोर, निर्बल निषाद कश्यप समाज की मांग जायज है भाजपा सरकार हमारी मांगे पूरी नही करेगी तो हम उसका जवाब हम भाजपा को सत्ता से बेदखल करके जरूर देंगे।

पंचायत में जालंधर निषाद, छोटेलाल निषाद,प्रदीप निषाद, निर्भय निषाद, जिला पंचायत सदस्य इंद्रजीत निषाद उमेश निषाद, जितेंद्र निषाद,संजय निषाद, महेंद्र निषाद,अमरनाथ निषाद, अरविंद निषाद, सुरेंद्र निषाद, राजकुमार निषाद, संजीत निषाद, विशाल निषाद, प्रधान दिनेश निषाद सहित सैकड़ों निषाद प्रतिनिधि आदि लोग रहे।

30 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here